close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

तीन भारतीय तेज गेंदबाज जिन्हें सिर्फ एक सीरीज में ही खेलने का मिला मौका

भारतीय टीम प्रबंधन का ये फसाना आजतक किसी को समझ नहीं आया है और हो सकता है निकट भविष्य में भी किसी को समझ न आए। अक्सर टीम में युवा खिलाड़ियों को मौका दिया गया है और उनकी चर्चा चयन के बाद से ही होने लगी है। लेकिन एक सीरीज में एक आध मैच में प्लेइंग 11 में शामिल करने के बाद उन्हें टीम से ही बाहर कर दिया गया है। इस खास लेख में हम आपको ऐसे तीन तेज गेंदबाजों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें महज एक सीरीज या दौरे के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया और फिर उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया गयाः

संदीप शर्मा

पंजाब के तेज गेंदबाज संदीप शर्मा आईपीएल के इतिहास के सफलतम तेज गेंदबाजों में से एक रहे हैं। इसके बावजूद उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मौके का सूखा झेलना पड़ा। साल 2015 में संदीप को जिम्बॉब्वे के दौरे पर भारतीय टीम का हिस्सा बनाया गया था। जहां उन्हें दो टी-20 मैचों में खेलने का मौका मिला, जिसमें उन्हें एक विकेट मिला और वह थोड़े महंगे भी रहे। लेकिन इस दौरे के बाद उन्हें दोबारा टीम इंडिया में जगह नहीं मिली।

परविंदर अवाना

भारतीय तेज गेंदबाज परविंदर अवाना को साल 2012 में इंग्लैंड के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर डेब्यू करने का मौका मिला। जहां दो मैचों की टी-20 सीरीज में परविंदर को टीम इंडिया में जगह मिली, लेकिन उन्हें विकेट नहीं मिला। उसके बाद परविंदर को दोबारा टीम इंडिया में जगह नहीं मिली, जबकि वह पंजाब के लिए आईपीएल में तीन साल और खेले थे।

श्रीनाथ अरविंद

आईपीएल में आरसीबी की तरफ से धमाकेदार प्रदर्शन करने वाले श्रीनाथ अरविंद को भारतीय टीम में जगह मिली थी। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ साल 2015 में श्रीनाथ अरविंद को भारत की ओर से डेब्यू करने का मौका मिला। जहां उन्होंने 4 ओवर में 44 रन देकर महज 1 विकेट हासिल किया। उसके बाद उन्हें दोबारा भारत की ओर से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलने का मौका नहीं मिला।

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।