close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

क्या महेंद्र सिंह धोनी को मेंटर बनाए जाने का फैसला सही साबित होगा

यूएई और ओमान में 17 अक्टूबर से होने वाले आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप के लिए 15 सदस्यीय भारतीय टीम का ऐलान कर दिया गया है। लेकिन टीम से ज्यादा भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड का एक फैसला सबसे ज्यादा सुर्खियों में रहा जिसमें उन्होंने पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को टीम के मेंटर के तौर पर टी-20 वर्ल्ड कप के दौरान नियुक्त करने का ऐलान किया है। बोर्ड के इस फैसले का स्वागत सभी पूर्व खिलाड़ियों के साथ फैंस ने भी सकारात्मक तरीके से लिया है।

दरअसल, भारतीय टीम ने अपना आखिरी आईसीसी खिताब महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में साल 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी के तौर पर जीता था। वहीं, धोनी जो साल 2020 के अगस्त में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद सिर्फ आईपीएल में खेलते हुए दिखाई दे रहे हैं, उनका इस मेगा इवेंट में टीम के साथ जुड़ना काफी लाभदायक साबित होगा। हम आपको 3 ऐसे कारण बताने जा रहे हैं, जो धोनी को मेंटर बनाए जाने के फैसले को सही साबित करते हैं।

कोहली को कप्तान के रूप में मिलेगी सही सलाह

इसमें कोई संदेह नहीं कि महेंद्र सिंह धोनी के कप्तानी छोड़ने के बाद विराट कोहली ने उसे काफी सही तरीके से संभाला है। लेकिन टी-20 वर्ल्ड कप जैसे मेगा इवेंट में जब उन्हें धोनी के रूप में एक ऐसा मेंटर मिलेगा जो ऐसी परिस्थितियों में पहले भी रहा है तो उससे कोहली को कप्तान के रूप में सही फैसले लेने में काफी मदद मिलने वाली है। धोनी एक कप्तान के तौर पर वर्ल्ड क्रिकेट में अपना एक अलग मुकाम पहले ही बना चुके हैं।

अनुभव का मिलेगा लाभ

एक खिलाड़ी के तौर पर महेंद्र सिंह धोनी को काफी अनुभव हासिल है और वह क्रिकेट के बेस्ट फिनिशर के तौर पर भी पहचाने जाते हैं। धोनी का अनुभव भारतीय टीम के खिलाड़ियों के लिए टी-20 वर्ल्ड कप के दौरान सबसे ज्यादा काम आएगा क्योंकि दबाव वाले मैचों में धोनी से बेहतर योजना बनाने वाला शायद ही कोई खिलाड़ी मौजूदा समय में दिखाई दे। धोनी के ड्रेसिंग रूम में मौजूद होने से टीम के सभी खिलाड़ियों का आत्मविश्वास भी काफी बढ़ जाएगा।

युवा खिलाड़ियों को मिलेगी सही सलाह

टी-20 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम में 2 खिलाड़ी ऋषभ पंत और इशान किशन के प्रदर्शन पर सबसे ज्यादा सभी की नजरें रहने वाली हैं। इन दोनों ही विकेटकीपर-बल्लेबाजों के लिए धोनी से बेहतर मार्गदर्शन कोई साबित नहीं होगा जिसका लाभ टीम को जरूर मिलेगा। यूएई के हालात में विकेट के पीछे और आगे कैसे टीम के लिए बेहतर प्रदर्शन करना है, उसमें धोनी इन दोनों खिलाड़ियों को बेहतर तरीके से समझा सकते हैं।

Leave a Response