close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

टेस्ट क्रिकेट में इन 4 मौकों पर एक दिन में पूरी टीम 2 बार सिमटी

क्रिकेट में हमें कई बार ऐसा देखने को मिला है जब टेस्ट मैचों में पांचों दिन एक अलग ही रोमांच देखने को मिलता है। हालांकि, हम सभी को कई ऐसे भी टेस्ट मैच देखने को मिले हैं, जिसमें एक टीम के प्रदर्शन को देखते हुए काफी निराशा का भी सामना करना पड़ा। एक दिन में किसी भी टीम को टेस्ट क्रिकेट में एक बार ऑल आउट करना किसी के लिए भी आसान काम नहीं है, लेकिन जब यह कारनामा 2 बार एक दिन में देखने को मिले तो सभी के लिए हैरानी का बात जरूर होगी।

आज तक टेस्ट क्रिकेट में ऐसा सिर्फ 4 बार ही देखने को मिला है जब एक टीम 2 बार एक दिन में सिमट गई जिसके लिए गेंदबाजों को विशेष तौर पर उनके प्रदर्शन के लिए सराहना करनी चाहिए। हम आपको अभी तक के टेस्ट इतिहास में इन 4 मैचों के बारे में बताने जा रहे हैं।

4 – भारत (साल 1952)

भारतीय टीम को साल 1952 में इंग्लैंड के दौरे पर मैनचेस्टर के मैदान पर अपनी पहली पारी खेलने का मौका तीसरे दिन मिला। फ्रेड ट्रूमेन की शानदार गेंदबाजी के चलते भारतीय टीम अपनी पहली पारी में सिर्फ 58 रन बनाकर सिमट गई। इसके चलते टीम को फॉलोऑन खेलने पर मजबूर होना पड़ा और दूसरी पारी में भी वह 82 रन पर सिमटने के साथ एक दिन में 2 बार ऑल आउट हो गई।

3 – जिम्बाब्वे (साल 2005)

जिम्बाब्वे की टीम का टेस्ट क्रिकेट में इतिहास अधिक बेहतर नहीं है और इसी का एक उदाहरण साल 2005 में न्यूजीलैंड के खिलाफ हरारे के मैदान पर देखने को मिला था। इस टेस्ट मैच में न्यूजीलैंड की टीम ने अपनी पहली पारी में बल्लेबाजी करते हुए 452 रन बनाकर पारी को घोषित किया। इसके बाद जिम्बाब्वे की टीम को खेल के दूसरे दिन बल्लेबाजी का मौका मिला और टीम पहली पारी में 59 और दूसरी पारी में 99 रन बनाकर सिमट गई ।

2 – जिम्बाब्वे (साल 2012)

साल 2012 में जिम्बाब्वे की टीम न्यूजीलैंड के दौरे पर थी, जहां दोनों टीमों के बीच नेपियर के मैदान पर टेस्ट मैच खेला जा रहा था। कीवी टीम ने अपनी पहली पारी में रॉस टेलर और बीजे वॉटलिंग की शानदार शतकीय पारियों की बदौलत 7 विकेट के नुकसान पर 495 रन बनाते हुए पारी को घोषित किया था। इसके बाद जिम्बाब्वे की टीम को खेल के दूसरे दिन अपनी पहली पारी खेलने का मौका मिला और टीम 51 रन पर ही सिमट गई। फॉलोऑन का सामना करते हुए दूसरी पारी में टीम ने थोड़ा संघर्ष जरूर दिखाया लेकिन दूसरे दिन के अंत से पहले ही जिम्बाब्वे की पारी 143 रन पर सिमट गई।

1 – अफगानिस्तान (साल 2018)

साल 2018 में अफगानिस्तान की टीम को टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने का मौका मिला जब उन्होंने अपना पहला मैच भारत के खिलाफ बेंगलुरू के मैदान में खेला था। इस मैच में भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए अपनी पहली पारी में 474 रन बना दिए। खेल के दूसरे दिन अफगान टीम की पहली पारी सिर्फ 109 रनों पर सिमट गई और उसे फॉलोऑन का सामना करना पड़ा। इसके बाद दूसरी पारी में भी टीम के सिर्फ 103 रनों पर सिमटने के कारण मैच दूसरे दिन ही खत्म हो गया।

Leave a Response