close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

SLvsSA : वनडे सीरीज में इन 5 खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर रहेगी सभी की नजरें

टी-20 वर्ल्ड कप से पहले सभी टीमों की कोशिश अपनी तैयारियों को पूरी तरह से पुख्ता करने पर लगी हुई है। इसी कड़ी में 2 सितंबर से श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका के बीच 3 मैचों की वनडे और फिर उसके बाद 3 मैचों की ही टी-20 सीरीज खेली जाएगी। भारत के खिलाफ टी-20 सीरीज में जीत हासिल करने के बाद मेजबान श्रीलंकाई टीम के खिलाड़ियों का आत्मविश्वास जरूर बढ़ा होगा।

वहीं, दूसरी तरफ दक्षिण अफ्रीका की टीम ने पिछली कुछ लिमिटेड ओवर्स सीरीज में शानदार प्रदर्शन किया है, जिसमें कप्तान तेंबा बवूमा के कंधों पर इस सीरीज में इसी लय को बरकरार रखने की सबसे बड़ी जिम्मेदारी होगी। हम आपको इस आर्टिकल में वनडे सीरीज के दौरान ऐसे 5 खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनके प्रदर्शन पर सभी की नजरें रहने वाली हैं।

5 – जानेमन मलान

इस युवा खिलाड़ी ने पिछले कुछ समय में अपने प्रदर्शन से सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोरी हैं। जानेमन मलान का टी-20 करियर देखा जाए तो उन्होंने अब तक 11 मैचों में 241 रन बनाए हैं, जिसमें उनका स्ट्राइक रेट 129.57 का रहा है। टी-20 वर्ल्ड कप से पहले यदि मलान इस सीरीज में अच्छा प्रदर्शन करने में कामयाब होते हैं, तो यह दक्षिण अफ्रीका टीम के लिए काफी राहत की बात होगी।

4 – जॉर्ज लिंडे

बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज होने के साथ निचले क्रम में बल्लेबाज के तौर पर भी जॉर्ज लिंडे महत्वपूर्ण योगदान देने की क्षमता रखते हैं। श्रीलंका की पिच पर स्पिन गेंदबाजों की अहमियत काफी बढ़ जाती है और इसी कारण जॉर्ज के पास सभी को प्रभावित करने का एक शानदार मौका है। जॉर्ड लिंडे ने अभी तक 14 टी-20 मैचों में 22.67 की औसत से 15 विकेट हासिल किए हैं।

3 – कुसल परेरा

भारत के खिलाफ लिमिटेड ओवर्स सीरीज में चोट के चलते बाहर रहने वाले कुसल परेरा के लिए टी-20 वर्ल्ड कप से पहले खुद को परखने का यह शानदार मौका है। कुसल ने अभी तक 49 टी-20 मैचों में 27.49 की औसत से 1347 रन बनाए हैं, जिसमें उनका स्ट्राइक रेट 132.97 का रहा है।

2 – दिनेश चंडीमल

लंबे समय के बाद श्रीलंकाई टीम में वापसी करने वाले दिनेश चंडीमल के आने से टीम के मध्यक्रम को काफी मजबूती मिलेगी। अभी तक 57 अंतरराष्ट्रीय टी-20 मैच खेलने वाले चंडीमल ने सिर्फ 19.29 की औसत से 868 रन बनाए हैं। हालांकि, इस समय श्रीलंकाई टीम के मध्यक्रम को एक ऐसे अनुभवी बल्लेबाज की जरूरत है, जो एक छोर से टीम को बांधकर रख सके और यह काम चंडीमल करने में सक्षम हैं।

1 – अविष्का फर्नांडो

दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने भारत के खिलाफ सीरीज के दौरान अपनी बल्लेबाजी से सबसे ज्यादा प्रभावित किया था। अविष्का फर्नांडो ने अभी तक खेले 19 टी-20 मैचों में 13.16 की औसत से भले ही सिर्फ 250 रन बनाए हैं, लेकिन इस खिलाड़ी की प्रतिभा को देखते हुए यह इस सीरीज में टीम के लिए मैच विनर के तौर पर साबित हो सकता है।

Leave a Response