close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

रणजी क्रिकेट के ये पांच रिकॉर्ड, जिन्हें तोड़ना नहीं है आसान

भारतीय टीम में किसी खिलाड़ी को तभी जगह मिलती है जब उसने घरेलू क्रिकेट यानी रणजी ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन किया हो। खुद को साबित करने की कोशिश में कुछ खिलाड़ी ऐसे यरिकॉर्ड भी बना देते हैं। जिन्हें तोड़ना आसान बात नहीं होती है। आज हम आपको रणजी क्रिकेट के ऐसे ही पांच रिकॉर्ड के बारे में बताने जा रहे है, जिन्हें तोड़ना कोई आसान काम नहीं है।

सबसे बड़ी पारी

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की बात करें तो टेस्ट क्रिकेट की सबसे बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड ब्रायन लारा के नाम है। लेकिन क्या आपको पता है कि भारत के पास एक ऐसा क्रिकेटर भी था, जिसने रणजी ट्रॉफी में भी 400 रनों से ज्यादा की पारी खेलने का रिकॉर्ड बनाया था। हम अक्सर ही रणजी क्रिकेट में 300 रनों की पारी खेलने के बारे में सुनते रहते हैं लेकिन महाराष्ट्र की ओर से खेलने वाले बी बी निंबालकर ने सन 1948 में 443 रनों की नाबाद पारी खेली थी। जिसके बल पर उनका नाम भारतीय क्रिकेट इतिहास में अमर हो गया। 1948 में महाराष्ट्र ने पूना क्लब में काठियावाड़ के खिलाफ चार दिवसीय रणजी ट्रॉफी मैच की मेजबानी की थी। इसी मैच में बी बी निंबालकर ने अकेले 443 रनों की पारी खेली और अगर उन्हें किसी निजी काम से जाना न होता तो वह डॉन ब्रैडमैन के 452 रनों के सर्वोच्च पारी के रिकॉर्ड को भी ध्वस्त कर देते।

सबसे ज्यादा शतक

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में क्रिकेट के भगवान सचिन के नाम सर्वाधिक शतक जड़ने का रिकॉर्ड है। उन्होंने टेस्ट और वनडे में मिलाकर शतकों का शतक पूरा किया था। वहीं रणजी क्रिकेट की बात करें तो मुंबई और विदर्भ की ओर से खेलने वाले वसीम जाफर के नाम रणजी ट्रॉफी में सबसे ज्यादा शतक लगाने का रिकॉर्ड है। उन्होंने अपने रणजी करियर में कुल 36 शतक लगाए हैं। यही नहीं वसीम जाफर के नाम रणजी क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भी है। उन्होंने रणजी क्रिकेट में 11 हजार रनों का आंकड़ा भी पार कर लिया है और ऐसा करने वाले अकेले खिलाड़ी हैं। उनके बाद मुंबई के ही अमोल मजूमदार का नाम आता है। जिन्होंने रणजी क्रिकेट में 9202 रन बनाए हैं।

सबसे ज्यादा विकेट

रणजी क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकार्ड राजिंदर गोयल के नाम है। पंजाब और दिल्ली टीम से खेलने वाले राजिंदर ने अपने रणजी करियर में कुल 750 विकेट झटके। हालांकि इस रिकॉर्ड गेंदबाजी के बाद भी उन्हें कभी भारतीय टीम में जगह नहीं मिली।

एक सीजन में सबसे ज्यादा रन

रणजी क्रिकेट में कोई भी बल्लेबाज तब और भी ज्यादा महान समझा जाता है जब वह लगातार पूरे सीजन बेहतरीन बल्लेबाजी करे। यही नहीं इसी प्रदर्शन के आधार पर उसकी आगे की राह भी आसान होती है। भारत में ऐसे कई बल्लेबाज हुए हैं, जिन्होंने रणजी क्रिकेट के एक सीजन में 1000 से ज्यादा रन बनाए हैं लेकिन इस लिस्ट में सबसे पहला नाम हैदराबाद की ओर से खेलने वाले वी.वी.एस. लक्ष्मण का आता है। जिन्होंने रणजी ट्रॉफी के 1999-2000 के सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाए जिसे आज तक कोई भी नहीं तोड़ पाया। उन्होंने इस सीजन में 1415 रन बनाए थे।

एक सीजन में सबसे ज्यादा विकेट

जिस तरह से हैदराबाद की ओर से खेलते हुए वी.वी.एस. लक्ष्मण ने रणजी क्रिकेट के एक सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम किया है। उसी तरह दिल्ली की ओर से रणजी क्रिकेट खेलने वाले बिशन सिंह बेदी ने एक सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड अपने नाम किया। उन्होंने 1974-75 के रणजी सत्र में शानदार प्रदर्शन करते हुए कुल 64 विकेट लिए और अपने नाम यह शानदार रिकॉर्ड दर्ज करवाया।

Leave a Response