close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

सीमित ओवर के पांच सफल क्रिकेटर जो टेस्ट में हुए बुरी तरह फेल

सभी खिलाड़ी सभी फॉर्मेट में बराबर सफल नहीं होते हैं। बहुत से ऐसे बल्लेबाज हैं, जो क्रिकेट के सबसे बड़े फॉर्मेट टेस्ट में सीमित ओवर की भांति सफल नहीं हुए हैं। ये असफलता कई बल्लेबाजों के अलावा कई गेंदबाजों को भी झेलनी पड़ी है। पांच दिन चलने वाले प्रारुप में हर खिलाड़ी ज्यादा सफल नहीं होता है, क्योंकि ये फॉर्मेट ही अपने आप में खिलाड़ियों के लिए एसिड टेस्ट होता है। इस खास लेख में जानें उन पांच क्रिकेटरों के बारे में जो टेस्ट में बुरी तरह से फेल हुए हैंः

शॉन मार्श

ऑस्ट्रेलिया के बाएं हाथ के बल्लेबाज शॉन मार्श ने सीमित ओवर में टेस्ट की तुलना शानदार प्रदर्शन किया है। 72 वनडे मैचों की पारियों में मार्श ने 40.77 के औसत से 2773 रन बनाए हैं, जिसमें उनके नाम 7 शतक व 15 अर्द्धशतक दर्ज हैं। जबकि टेस्ट मैचों की 68 पारियों में उन्होंने सिर्फ 6 शतक व 10 पचासे की मदद से 2265 रन बनाए हैं। ऑस्ट्रेलिया के लिए उन्हें टी-20 में ज्यादा मौके नहीं मिले हैं।

इमरान ताहिर

दक्षिण अफ्रीका के लेग स्पिनर इमरान ताहिर ने साल 2011 में ऑस्ट्रेलिया के केपटाउन में टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था। उस वक्त उनकी उम्र 30 वर्ष के करीब थी और वह प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 585 विकेट ले चुके थे। लेकिन इस लेग स्पिनर ने साल 2011-15 के बीच में 20 टेस्ट मैच खेले, जिसमें उन्हें सिर्फ 57 विकेट मिले और उनका गेंदबाजी औसत 40.24 का रहा। वहीं ताहिर ने सीमित ओवर के क्रिकेट में 107 वनडे में 24.83 व 38 टी-20 अंतरराष्ट्रीय में 15.04 के गेंदबाजी औसत से क्रमशः 173 और 63 विकेट अपने नाम दर्ज करवाए हैं।

शाई होप

साल 2017 में हेडिंग्ले टेस्ट मैच में शाई होप ने लगातार दो शतक इंग्लैंड के खिलाफ बनाए थे। तब ऐसा लग रहा था कि वह वेस्टइंडीज के लिए लंबे समय तक टेस्ट मैच खेलेंगे। लेकिन दुर्भाग्यवश उनका टेस्ट में प्रदर्शन बहुत खराब ही रहा। वह दो टेस्ट शतक ही उनके खाते में आज भी दर्ज हैं और 34 टेस्ट मैचों में उनका औसत 26.27 का है। वहीं वनडे में उनका औसत 52.20 का है। होप ने हर 9वीं टेस्ट पारी में 50 से अधिक का स्कोर किया है, वहीं वनडे में हर तीसरी पारी उनकी 50 से ज्यादा रन की रही है।

मोहम्मद समी

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद समी साल 2000 से सफेद गेंद की क्रिकेट खेल रहे हैं। जहां उनके खाते में 87 वनडे मैचों में 29.47 के औसत से 121 विकेट दर्ज हैं। टी-20 में समी ने 13 मैचों में 18.42 के औसत से 21 विकेट झटके हैं। वहीं टेस्ट में समी का गेंदबाजी औसत 52.74 का है, जो 50 से अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों में सबसे खराब है। टेस्ट में उनके खाते में 85 विकेट दर्ज हैं।

मौजूदा समय में चौथी पारी में सबसे बेहतरीन औसत से रन बनाने वाले टेस्ट बल्लेबाज

मार्टिन गप्टिल

न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाज मार्टिन गप्टिल सीमित ओवर में बेहद सफल बल्लेबाज रहे हैं, लेकिन टेस्ट की जर्सी में वह अपनी सफलता को बरकरार नहीं रख पाए। 183 वनडे में 42.5 के औसत से 6843 रन बनाने वाले गप्टिल ने 47 टेस्ट मैचों में 29.38 के औसत से 2586 रन बनाए हैं। इसके अलावा उन्होंने 88 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं, जिसमें 32.51 के औसत से 2536 रन बनाए हैं।

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।