close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

पांच विकेट झटकने वाले बुमराह के तरकश में जुड़ा नया तीर

वेस्टइंडीज की दूसरी पारी भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की कहर बरपाती गेंदों के सामने ताश के पत्तों की तरह बिखर गई। इस घातक गेंदबाज ने  7 रन देकर 5 विकेट झटके और भारत के लिए शुरुआती टेस्ट में 318 रनों की रिकॉर्ड जीत में अहम योगदान दिया। बुमराह ने स्विंग का ऐसा कहर बरपाया कि पांच में चार बल्लेबाजों को सांप सूंघ गया और वे क्लीन बोल्ड हो गए।

इसके साथ ही भारतीय टीम ने दो मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली और अपने पहले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप मैच में 60 अंक हासिल किए।

अक्सर बुमराह को इनस्विंग यानि की अंदर जाती गेंदों पर विकेट लेते देखा गया है जो उनका मुख्य हथियार भी है। लेकिन एंटीगा के विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में वह अपने तरकश में नए तीर के साथ लौटे, जिसका कैरेबियाई बल्लेबाज़ों के पास कोई जवाब नहीं था। बुमराह ने एक छोर से इन स्विंग और दूसरे छोर से आउट स्विंग करने का प्लान बनाया जो मेज़बानों पर भारी पड़ गया।

चौथे दिन के खेल में जसप्रीत बुमराह ने दूसरी पारी में 8 ओवर में महज 7 रन देकर 5 विकेट झटके और इतिहास रच दिया। वह भारत की ओर से सबसे कम रन (7) देकर पांच विकेट लेने वाले नंबर 1 खिलाड़ी बन गए हैं। वह दुनिया के एकमात्र खिलाड़ी हैं जिन्होंने चार विदेशी दौरे ( दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज) पर पांच विकेट हॉल लेने का कीर्तिमान बनाया।

WI vs IND: भारत की रिकॉर्ड जीत में चमके रहाणे और बुमराह

तरकश में तीरों की संख्या हुई चार

यॉर्कर – जसप्रीत बमुराह को सीमित ओवर प्रारुप में डेथ ओवर स्पेशलिस्ट गेंदबाज कहा जाता है। इसकी वजह यह है कि वह अंतिम ओवरों में घातक यॉर्कर से बल्लेबाज़ों को चित्त करने और रनों की गति पर लगाम कसने में सफल रहे हैं। बुमराह की इस गेंद को टो क्रशर भी कहा जाता है जिसकी कला उन्होंने यॉर्कर के दिग्गज़ गुरु लसिथ मलिंगा से सीखी है।

बैक ऑफ लेंथ डिलीवरी – बुमराह के पास गेंद को पिच पर ज़ोर से पटकने की कला भी है, वह गेंद को 145 किमी प्रति घंटे से भी तेज रफ्तार से फेंक सकते हैं। अपने अद्भुत एक्शन से बुमराह ऐसी गेंद फेंकते हैं जिसमें वह उछाल के साथ  गेंद को दोनों तरफ सीम भी करा सकते हैं। इसे वह ज्यादातर बाएं हाथ के बल्लेबाजो के खिलाफ इस्तेमाल करते हैं।

फुल लेंथ डिलीवरी – गजरात का ये गेंदबाज इसका ज्यादातर प्रयोग दाएं हाथ के बल्लेबाजों को अपने जाल में फंसाने के लिए करता है। वह कुछ गेंदों को अंदर की ओर लेकर आते हैं और कुछ सीधी निकल जाती है जिससे बल्लेबाज शॉट खेलने के लिए मजबूर हो जाता है। इससे बल्लेबाज के पगबाधा या बल्ले का बहारी किनारा लगकर कैच आउट होने की उम्मीदें बढ़ जाती हैं।

आउट स्विंग – एंटीगा टेस्ट में वेस्टइंडीज के खिलाफ बुमराह के सभी पांच विकेट आउटस्विंग (दाएं हाथ के बल्लेबाज) और इनस्विंग (बाएं हाथ के बल्लेबाज) के माध्यम से आए। उन्होंने आउट स्विंग की कला में महारथ हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत और लगातार अभ्यास किया है। इंग्लैंड में ड्यूक बॉल से गेंदबाज़ी करने से बुमराह को खासा फायदा हुआ है जिसका इस्तेमाल उन्होंने वेस्टइंडीज दौरे पर किया।

डे-नाइट टेस्ट से भारतीय क्रिकेट को होगा फायदा Live

  • हां
  • नहीं

Leave a Response