close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

धोनी के कॉन्ट्रैक्ट से बाहर होने के बाद क्या कहा बीसीसीआई ने

भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने जैसे ही नए सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट(अक्टूबर-2019 से सितंबर 2020) की घोषणा की सोशल मीडिया पर महेन्द्र सिंह धोनी के भविष्य को लेकर चर्चाएं तेज हो गई। धोनी का नाम इस लिस्ट से बाहर था और इसे देखने के बाद यह सवाल खड़े हो गए कि क्या धोनी का करियर खत्म हो गया है? धोनी के भविष्य को लेकर अब बीसीसीआई ने अपनी राय दे दी है।

सोशल मीडिया पर धोनी के संन्यास को लेकर चर्चाएं तेज होने के बाद बीसीसीआई ने साफ किया कि धोनी के लिए वापसी के दरवाजे बंद नहीं हुए हैं। आईएएनएस से बात करते हुए बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा – “बात को सीधे तरीके से लीजिए। कॉन्ट्रैक्ट मिलना इस बात की गांरटी नहीं देता है कि आप देश के लिए खेल सकते हैं या नहीं। नियमित खिलाड़ियों को कॉन्ट्रैक्ट दिए जाते हैं और ईमानदारी से कहूं तो धोनी वनडे विश्व कप-2019 के बाद से नहीं खेले हैं इसलिए उनका नाम इस लिस्ट में नहीं है।”

उन्होंने कहा, “अगर कोई इसे रास्ते बंद होने और चयनकर्ताओं से संकेत मिलने की तरह देखता है तो ऐसा नहीं है।” उन्होंने कहा, “अगर वह चाहें तो अभी भी अच्छा प्रदर्शन कर राष्ट्रीय टीम में वापस आ सकते हैं और इसमें टी-20 विश्व कप भी शामिल है।”

दूसरी तरफ नए कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट जारी होने से पहले धोनी ने झारखंड रणजी टीम के साथ प्रैक्टिस शुरू कर दी थी। रांची में उन्होंने बॉलिंग मशीन के साथ बल्लेबाजी का अभ्यास किया। इससे पहले टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री ने साफ कर दिया था कि धोनी टेस्ट के बाद वनडे से भी बाहर हैं लेकिन टी20 विश्व कप को ध्यान में रखते हुए उनकी वापसी संभव है और इसके लिए सबकुछ आईपीएल का फॉर्म तय करेगा।

विश्व कप सेमीफाइनल के बाद से धोनी टीम से बाहर हैं और इस दौरान उन्होंने मैदान पर समय नहीं बिताया है। ऐसे में आईपीएल उनकी वापसी का दरवाजा खोल सकता है। बीसीसीआई के तरफ से दिए गए इस बयान से धोनी के प्रशंसकों को इस बात से जरूर राहत मिलेगी कि सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट का धोनी के भविष्य से कोई संबंध नहीं है।

Leave a Response

Shashank

The author Shashank

2011 विश्व कप के साथ शशांक ने अपनी खेल पत्रकारिता की शुरआत की। क्रिकेट के मैदान से लेकर हर छोटी बड़ी खबरों पर इनकी नज़र रहती है। खेल की बारीकियों से लेकर रिकॉर्ड बुक तक, हर उस पहलू पर नजर होती है जिसे आप पढ़ना और जानना चाहते हैं। क्रिकेट के अलावा दूसरे खेलों में भी इनकी गहरी रूची है। कई बड़े मीडिया हाउस को अपनी सेवा दे चुके हैं।