close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

रणजी ट्रॉफी: जानिए कब होगा भारतीय घरेलू क्रिकेट का सबसे बड़ा टूर्नामेंट

भारतीय घरेलू क्रिकेट के सबसे बड़े टूर्नामेंट में शुमार रणजी ट्रॉफी के प्रारूप और समय सारिणी में बदलाव किया गया है। कोविड-19 महामारी और सभी हितों को देखते हुए बीसीसीआई ने एक समीक्षा बैठक की, जिसके बाद राज्य क्रिकेट निकायों के लिए संशोधित कार्यक्रम जारी किया गया है।

सैयद मुश्ताक अली टी20 टूर्नामेंट 27 अक्टूबर से शुरू होकर 22 नवंबर तक चलेगा जबकि विजय हजारे वनडे ट्रॉफी 1 से 29 दिसंबर तक चलेगा। तीनों टूर्नामेंट इस बार एक समान पैटर्न का पालन करेंगे। वहीं रणजी ट्रॉफी 2021-22 का सत्र इस साल की बजाय अगले साल 5 जनवरी से 20 मार्च तक आयोजित किया जाएगा।

बीसीसीआई सचिव जय शाह ने राज्य निकायों को एक पत्र लिखकर इसकी जानकारी दी है।

इस पत्र में कहा गया है, “बीसीसीआई भारत सरकार, राज्य नियामक प्राधिकरणों और अन्य संबंधित हितधारकों के साथ मिलकर काम कर रहा है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि हमारा खेल एक समाधान प्राप्त कर सके। इसके साथ, पूर्ण बीसीसीआई घरेलू क्रिकेट सीजन 2021-22 के लिए एक संयुक्त उद्देश्य है।”

शाह ने पत्र में कहा, “बीसीसीआई सितंबर 2021 में अंडर-19 टूर्नामेंट (दोनों श्रेणियों) से शुरू होने वाले घरेलू क्रिकेट के पूरे सत्र के साथ आगे बढ़ेगा।”

पिछले साल के उलट इस बार सैयद मुश्ताक अली टी20, रणजी ट्रॉफी और विजय हजारे वनडे में एकरूपता रहेगी। प्रत्येक टूर्नामेंट में पांच एलीट समूह होंगे, जिसमें प्रत्येक समूह में छह टीमें होंगी। आठ टीमों का एक प्लेट ग्रुप होगा।

पांच एलीट ग्रुप के विजेता सीधे क्वार्टर फाइनल में पहुंचेंगे। प्रत्येक एलीट समूह से दूसरे स्थान पर रहने वाली टीमें और प्लेट समूह की विजेता तीन प्री-क्वार्टर फाइनल खेलेंगी और तीन विजेता क्वार्टर फाइनल लाइन-अप को पूरा करेंगे।

बोर्ड ने पिछले महीने एक बयान जारी किया था कि पुरुषों का घरेलू सत्र 20 अक्टूबर से शुरू होगा और रणजी ट्रॉफी तीन महीने की विंडो में 16 नवंबर, 2021 से 19 फरवरी, 2022 के बीच आयोजित की जाएगी।

लेकिन अब इन योजनाओं में परिवर्तन करते हुए रणजी ट्रॉफी को अगले साल आयोजित करना तय किया गया है।

लॉर्ड्स पर एक मैच में 50 रन बनाने वाले एकमात्र भारतीय कप्तान बने विराट कोहली

Leave a Response