close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

जन्मदिन विशेषः फाफ डुप्लेसिस के करियर की 5 शानदार पारियां

दक्षिण अफ्रीका टीम के लिए लंबे समय तक तीनों ही फॉर्मेट में शानदार कप्तान करने वाले फाफ डुप्लेसिस आज अपना 37वां जन्मदिन मना रहे हैं। 13 जुलाई 1984 को डुप्लेसिस का जन्म अफ्रीका के प्रिटोरिया में हुआ था, जिसके बाद क्रिकेट में उन्होंने अपना करियर बनाते हुए साल 2011 में भारत के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय डेब्यू करते हुए पहला वनडे मैच खेला।

फाफ डुप्लेसिस दक्षिण अफ्रीका के पहले ऐसे खिलाड़ी हैं, जिनके नाम क्रिकेट के तीनों ही फॉर्मेट में शतक लगाने का रिकॉर्ड दर्ज है। वहीं डे-नाइट टेस्ट मैच में वह अफ्रीका की तरफ से शतकीय पारी खेलने वाले भी पहले बल्लेबाज हैं। फाफ के 37वें जन्मदिन के मौके पर हम आपको उनके करियर की 5 शानदार पारियों के बारे में बताने जा रहे हैं।

5 – बनाम भारत (साल 2013, वांडर्स स्टेडियम, 134)

भारतीय टीम साल 2013 में दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर थी, जहां दोनों ही टीमों के बीच सीरीज का पहला टेस्ट मैच वांडर्स स्टेडियम में खेला गया। इस मैच में भारतीय टीम की पहली पारी 280 के स्कोर पर सिमट गई। जवाब में दक्षिण अफ्रीका टीम की पहली पारी भी 244 के स्कोर पर ढेर हो गई।

दूसरी पारी में भारतीय टीम की तरफ से चेतेश्वर पुजारा ने 153 रनों की पारी खेल दी वहीं कोहली ने भी 96 रन बनाए जिससे भारतीय टीम की दूसरी पारी 421 के स्कोर सिमटी। दक्षिण अफ्रीका की टीम को चौथी पारी में जीत हासिल करने के लिए 458 रनों का लक्ष्य मिला था।

अफ्रीका टीम के कप्तान ग्रीम स्मिथ ने पहले विकेट के लिए 108 रनों की साझेदारी करते हुए टीम को एक अच्छी शुरुआत देने का काम किया । लेकिन टीम ने 197 के स्कोर तक अपने 4 महत्वपूर्ण विकेट गंवा दिए, जिसके बाद डुप्लेसिस ने डी विलियर्स के साथ मिलकर 5वें विकेट के लिए 205 रनों की साझेदारी करते हुए टीम को जीत के बेहद करीब पहुंचा दिया। डुप्लेसिस के 134 के स्कोर पर रन आउट हुए लेकिन अफ्रीका की टीम ने 5वें दिन का खेल खत्म होने तक 450 रन बना लिए थे और अंत में मैच को ड्रॉ घोषित कर दिया गया।

4 – बनाम भारत (साल 2015, वानखेड़े स्टेडियम, 133 रन)

मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में साल 2015 में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेला गया वनडे मैच फाफ डुप्लेसिस और डी विलियर्स की शानदार शतकीय पारियों के लिए याद किया जाता

है। इस मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी अफ्रीका टीम की शुरुआत अच्छी नहीं हुई थी, लेकिन दूसरे विकेट के लिए क्विंटन डी कॉक और डुप्लेसिस के बीच 154 रनों की साझेदारी होने से टीम पूरी तरह से बड़े स्कोर की तरफ बढ़ चुकी थी।

इसके बाद डुप्लेसिस ने डी विलियर्स के साथ मिलकर तीसरे विकेट के लिए 164 रनों की साझेदारी करते हुए टीम का स्कोर 400 के करीब पहुंचा दिया था। डुप्लेसिस मैच में 133 के स्कोर पर रिटायर हो गए थे, वहीं अफ्रीका ने अपने 50 ओवर पूरे होने पर 438 रन बना दिए थे। जिसके बाद भारतीय टीम को मैच में 214 रनों से हार का सामना करना पड़ा था।

3 – बनाम ऑस्ट्रेलिया (साल 2018, वांडर्स स्टेडियम, 120 रन)

ऑस्ट्रेलियाई टीम का साल 2018 का दक्षिण अफ्रीका दौरा सभी क्रिकेट फैंस सैंड पेपर प्रकरण के कारण हमेशा याद रखेंगे। इस दौरे पर दोनों टीमों के बीच सीरीज का चौथा टेस्ट मैच वांडर्स स्टेडियम में खेला गया था। इस मैच में अफ्रीका टीम ने पहली पारी में 488 रन बनाए जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम 221 के स्कोर पर ढेर हो गई थी।

दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी में शुरुआती 3 विकेट 84 के स्कोर पर ही पवेलियन लौट गए थे। यहां से डीन एल्गर और फाफ डुप्लेसिस ने पारी को मिलकर संभालने का काम किया। एल्गर जहां 81 रन बनाकर पवेलियन वापस लौटे तो वहीं डुप्लेसिस ने शानदार 120 रनों की पारी खेली थी।

अफ्रीका टीम ने अपनी दूसरी पारी 6 विकेट के नुकसान पर 344 के स्कोर पर घोषित करते हुए ऑस्ट्रेलिया को चौथी पारी में 612 रनों का विशाल लक्ष्य दिया। दक्षिण अफ्रीका की टीम ने इस मैच में 492 रनों की बड़ी जीत दर्ज की थी।

2 – बनाम ऑस्ट्रेलिया (साल 2018, होबार्ट, 125 रन)

ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर साल 2018 के अंत में गई दक्षिण अफ्रीका की टीम ने वनडे सीरीज का तीसरा मैच होबार्ट के मैदान में खेला था। इस मैच में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला करते हुए अफ्रीका टीम शुरुआती 3 विकेट 55 के स्कोर तक पवेलियन भेज दिए थे।

यहां से कप्तान फाफ डुप्लेसिस ने डेविड मिलर के साथ मिलकर चौथे विकेट के लिए 252 रनों की साझेदारी करते हुए टीम को बेहद मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया था। अफ्रीका टीम ने 50 ओवर पूरे होने पर 5 विकेट के नुकसान पर 320 रन बना दिए थे।। डू प्लेसी ने मैच में 125 रनों की पारी खेली तो वहीं अफ्रीका ने ऑस्ट्रेलिया को 40 रनों से मात दी थी।

1 – बनाम श्रीलंका (साल 2020, सेंचुरियन, 199 रन)

फाफ डुप्लेसिस ने अपने टेस्ट करियर में अभी तक सर्वाधिक रनों की पारी 199 रनों की खेली है। साल 2020 के अंत में श्रीलंका टीम के अफ्रीका दौरे पर दोनों ही टीमों के बीच सीरीज का पहला मैच सेंचुरियन के मैदान में खेला गया था। इस मैच में श्रीलंका की टीम पहली पारी में 396 के स्कोर पर सिमटी।

जवाब में अफ्रीका की तरफ से ओपनिंग बल्लेबाजों ने टीम को शानदार शुरुआत देने का काम किया और 200 के स्कोर तक टीम ने सिर्फ 2 विकेट ही गंवाए थे। जिससे टीम अपनी पहली पारी में 621 का स्कोर बनाने के साथ बड़ी बढ़त हासिल करने में कामयाब रही। फाफ ने इस मैच में 199 रनों की पारी 276 गेंदों में खेली थी वही दक्षिण अफ्रीका को मैच में एक पारी और 45 रनों से जीत हासिल हुई थी।

Leave a Response