close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

दक्षिण अफ्रीका को मिला नया टेस्ट कप्तान, क्या बदलेगी टीम की किस्मत?

आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप 2019-21 के प्रदर्शन को देखा जाए तो उसमें मजबूत टीमों में सबसे खराब प्रदर्शन दक्षिण अफ्रीका टीम का देखने को मिला है। दक्षिण अफ्रीका की टीम ने इस टेस्ट चैंपियनशिप में 30 फीसदी अंकों के साथ 7वें स्थान पर खत्म किया है, जिसमें उससे ऊपर वेस्टइंडीज और पाकिस्तान तक की टीम थी। ऐसे में दक्षिण अफ्रीका टीम समेत उनके कप्तान को लेकर सवाल उठते रहे हैं।

साउथ अफ्रीका से टेस्ट क्रिकेट में इस तरह के प्रदर्शन की उम्मीद किसी को नहीं थी, लेकिन एबी डी विलियर्स के संन्यास लेने और फाफ डु प्लेसिस के बिल्कुल भी फॉर्म में ना होने से टीम को इसका खामियाजा भुगतना पड़ा है। दक्षिण अफ्रीका की टीम के यदि पिछले 10 टेस्ट मैचों के रिकॉर्ड को देखा जाए, तो उसमें टीम सिर्फ 3 मैचों में जीत हासिल कर सकी है। जिसके चलते अब चयनकर्ताओं ने नए सत्र की शुरुआत से पहले एक बार फिर टेस्ट कप्तानी में बड़ा बदलाव करते हुए डीन एल्गर को यह जिम्मेदारी सौंपी है। 

वेस्टइंडीज के खिलाफ 2 टेस्ट मैचों से होगी शुरूआत 

डीन एल्गर को दक्षिण अफ्रीका के नियमित कप्तान के तौर पर अपनी पहली टेस्ट सीरीज वेस्टइंडीज के दौरे पर 2 मैचों की खेलनी है। इस सीरीज की शुरुआत 10 जून को सेंट लूसिया के मैदान में खेले जाने वाले पहले टेस्ट मैच से होगी। हालांकि इससे पहले एल्गर को अफ्रीका टीम की कप्तानी करने का मौका 2 बार मिला है। इसमें सबसे पहले साल 2017 में इंग्लैंड के खिलाफ उन्होंने लॉर्ड्स के मैदान में कप्तानी की थी, जिसमें अफ्रीका को 211 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। 

वहीं इसके बाद एल्गर ने अपने करियर में दूसरी बार टेस्ट क्रिकेट में कप्तानी साल 2019 में पाकिस्तान के खिलाफ वांडरर्स टेस्ट मैच में की थी, जिसमें उन्होंने टीम को 107 रनों से जीत दिलाई थी। इसके बाद उनके पास टेस्ट में कप्तानी के अनुभव के नाम पर सिर्फ 2 टेस्ट मैच हैं और टीम के फार्म को देखते हुए उनकी राह आसान नहीं होने वाली है। 

बल्लेबाजी पर भी देना है पूरा ध्यान 

कप्तानी के दबाव के अलावा डीन एल्गर इस समय दक्षिण अफ्रीका टीम में मौजूद सबसे भरोसेमंद बल्लेबाजी भी है, और उन्हें इस मोर्चे पर भी पूरा ध्यान देना होगा। यदि कप्तानी का असर उनकी बल्लेबाजी पर पड़ता है, तो इसका खामियाजा पूरी टीम को उठाना पड़ेगा। 

अभी तक एल्गर ने 67 टेस्ट मैचों की 117 पारियों में 39.44 के औसत से 4,260 रन बनाए हैं, जिसमें 13 शतक और 16 अर्धशतकीय पारियां भी दर्ज हैं। एक ओपनिंग बल्लेबाज के तौर पर एल्गर के सामने टीम के पूर्व खिलाड़ी ग्रीम स्मिथ सबसे बड़ा उदाहरण होंगे, जिन्होंने कप्तान और ओपनिंग बल्लेबाज के तौर पर दोनों ही जगह लम्बे समय तक अफ्रीका के लिए जिम्मेदारी निभाई। 

जानें दक्षिण अफ्रीका की कप्तानी करने वाली खबर पर एबी डिविलियर्स ने क्या कहा

Leave a Response