close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

क्या दिग्गजों की वापसी से वेस्टइंडीज एक बार फिर जीत सकता है टी-20 वर्ल्डकप

साल 2021 के आखिर में होने वाले आईसीसी टी-20 वर्ल्डकप को लेकर सभी टीमों ने लगभग अपने तैयारियां शुरू कर दी हैं। साल 2020 में ऑस्ट्रेलिया में खेले जाने वाले आईसीसी टी-20 वर्ल्डकप को कोरोना महामारी के चलते टालने का फैसला किया गया था। जिसके बाद इस साल के आखिर में यह भारत में खेला जाना है, लेकिन एकबार कोरोना के चलते इसके स्थान में परिवर्तन किया जा सकता है।

हालांकि दूसरी तरफ इस विश्वकप में हिस्सा लेने वाली टीमों ने अपनी कमजोरियों पर काम करना शुरू कर दिया है। लेकिन अभी तक टी-20 विश्वकप में बेहद सफल रहने वाली वेस्टइंडीज़ की टीम एकबार फिर से मजबूत टीमों के खिलाफ काफी बड़ा खतरा बनते हुए दिख रही है। जिसकी सबसे बड़ी वजह टीम में अनुभवी खिलाड़ियों को वापसी है।

अफ्रीका के खिलाफ रसेल और हेटमायर की हुई टीम में वापसी

वेस्टइंडीज़ की टीम को जून में अफ्रीका के खिलाफ 2 टेस्ट और 5 टी-20 मैचों की घरेलू सीरीज खेलनी है। टी-20 सीरीज को लेकर विंडीज़ चयनकर्ताओं ने 18 सदस्यों की संभावित टीम का ऐलान कर दिया है। इस टीम में टी-20 क्रिकेट दिग्गज खिलाड़ियों में शुमार ऑलराउंडर आंद्रे रसेल की वापसी हुई है। रसेल ने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय टी-20 मैच मार्च 2020 में श्रीलंका के खिलाफ खेला था। इसके अलावा विंडीज टीम में बाएं हाथ के विस्फोटक बल्लेबाज शिमरॉन हेटमायर की भी वापसी देखने को मिली है।

ब्रावो और गेल अपनी जगह बचाने में रहे कामयाब

इस संभावित टीम में यूनिवर्स बॉस क्रिस गेल और ड्वेन ब्रावो अपनी जगह को बचाने में कामयाब रहे। दोनों ही टीम में इस समय सबसे अनुभवी खिलाड़ी हैं और विंडीज़ टीम को अपने टी-20 खिताब की यदि बचाना है, तो गेल और ब्रावो की अहम भूमिका रहने वाली है। इसके अलावा टीम की कप्तान कर रहे कायरन पोलार्ड भी एक मैच विनर खिलाड़ी के तौर पर पहचाने जाते हैं।

इस समय यदि वेस्टइंडीज़ की टीम का संतुलन देखा जाए तो वह बाकी अन्य टी-20 टीमों के मुकाबले बेहद मजबूत दिखाई देता है। जिसके पीछे सबसे बड़ा कारण टीम के पास कई मैच विनर खिलाड़ियों का मौजूद होना है, जो किसी भी परिस्थिति से टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका अदा कर सकते हैं।

वर्ल्डकप से पहले घरेलू जमीन पर खेलने हैं 15 टी-20 मैच

विंडीज टीम की टी-20 वर्ल्डकप की तैयारियों को लेकर बात की जाए तो टीम को अभी अफ्रीका, पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 सीरीज खेलनी है। जिसमें वेस्टइंडीज़ को कुल 15 टी-20 मैच खेलने का मौका मिलेगा और यह टीम की विश्वकप से पहले तैयारियों को पुख्ता करने का एक सुनहरा मौका साबित हो सकता है।

Leave a Response