close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

चेतेश्वर पुजाराः भारतीय क्रिकेट के चट्टान

एकाग्रता, धैर्य, रचनात्मकता और लगन क्रिकेट में ये शब्द अगर किसी बल्लेबाज के ऊपर फिट बैठता है तो वह हैं टीम इंडिया की नई दीवार कहे जाने वाले चेतेश्वर पुजारा। भारतीय बल्लेबाजी के आधार और सबसे अहम स्तंभ पुजारा का जन्म 25 जनवरी 1988 को राजकोट, गुजरात में हुआ। साल 2000 में चेतेश्वर पुजारा ने अंडर 14 स्तर के क्रिकेट में तिहरा शतक जड़कर विश्व क्रिकेट में अपनी पहली दस्तक दी थी। पुजारा यहीं नहीं रुके, उन्होंने भारत के लिए अपने पहले ही अंडर 19 मुकाबले में दोहरा शतक जड़ दिया।

पुजारा के पहले कोच उनके पिता

चेतेश्वर पुजारा आज जो कुछ हैं, वह अपने पिता अरविंद पुजारा के बदौलत हैं। उनके पिता खुद एक क्रिकेटर रह चुके हैं और वही उनके पहले कोच थे। जिन्होंने उन्हें एक बेहतरीन बल्लेबाज खास तौर पर टेस्ट क्रिकेटर बनने में अहम योगदान दिया। पुजारा की उम्र जब 17 वर्ष थी, तभी उनकी मां रीमा पुजारा का देहांत हो गया था। ऐसे में उनके पिता अरविंद ही उनके लिए सबकुछ थे, यही वजह भी है कि पुजारा बेहद शांत और धैर्यवान भी हैं। पुजारा के पिता ने एक साक्षात्कार में पुजारा की बल्लेबाजी के बारे में बताया था, “एक बल्लेबाज को लंबी पारी खेलने के लिए अपने दिमाग पर काबू पाना होता है, पुजारा इसमें माहिर हैं।”

बनना चाहते थे ऑलराउंडर

चेतेश्वर पुजारा क्रिकेट के अपनी शुरुआती दिनों में ऑलराउंडर बनना चाहते थे, वह बल्लेबाजी के अलाव क्विक लेग स्पिन भी फेंकते थे। लेकिन भारत के पूर्व क्रिकेटर करसन घावरी ने उन्हें बल्लेबाजी पर ज्यादा फोकस करने की सलाह दी।

पुजारा का करियर

भारतीय टेस्ट टीम के मजबूत स्तंभ चेतेश्वर पुजारा ने 75 टेस्ट मैचों की 124 पारियों में 8 बार नाबाद रहते हुए 5740 रन बनाएं हैं। इस दौरान उनका औसत 49.48 और स्ट्राइक रेट 46.69 का रहा है। टेस्ट में पुजारा के नाम 18 शतक व 24 अर्द्धशतक दर्ज हैं, जबकि उनका सर्वोच्च स्कोर नाबाद 206 रन रहा है। वनडे में पुजारा ने उतना प्रभावित नहीं किया है, उन्होंने 5 मुकाबलों में मात्र 51 रन बनाएं हैं।

पुजारा के नाम दर्ज हैं ये खास रिकॉर्ड

चेतेश्वर पुजारा के नाम भारत की तरफ एक पारी में सबसे ज्यादा 525 गेंद खेलने का रिकॉर्ड दर्ज है। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया की धरती पर भारत की ओर से तीसरे क्रम पर बल्लेबाजी करने वाले बल्लेबाज के रूप में चेतेश्वर पुजारा ने 5 शतक ठोके हैं। पुजारा के नाम तीसरे विकेट के लिए कोहली के साथ 226 रन की सबसे बड़ी साझेदारी करने का रिकॉर्ड दर्ज है। चेतेश्वर पुजारा ने साल 2017 में प्रथम श्रेणी क्रिकेट में सबसे ज्यादा 1605 रन बनाए और अपने नाम ये खास रिकॉर्ड दर्ज किया था। पुजारा के नाम भारतीय घरेलू क्रिकेट में सबसे ज्यादा 13 दोहरा शतक दर्ज हैं। पिछले साल जब भारतीय टीम ऑस्ट्रेलियाई धरती पर पहली बार टेस्ट सीरीज अपने नाम किया, उसके नायक व मैन ऑफ सीरीज पुजारा ही थे।

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।