CWC19, ENG vs WI: इंग्लैंड के गेंदबाजों का कमाल, महज 212 पर ढ़ेर हो गई वेस्टइंडीज की टीम - 100MB
close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

CWC19, ENG vs WI: इंग्लैंड के गेंदबाजों का कमाल, महज 212 पर ढ़ेर हो गई वेस्टइंडीज की टीम

गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन की बदौलत मेजबान इंग्लैंड ने विश्व कप के 19वें मुकाबले में वेस्टइंडीज को महज 212 रनों पर ही ढेर कर दिया। साउथैंटन के द रोज बाउल में खेले जा रहे मुकाबले में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और गेंदबाजों ने इसे सही साबित किया।

वेस्टइंडीज के बल्लेबाज 44.4 ओवर तक ही पिच पर टिक पाए। उनकी ओर से निकोलस पूरन ने सबसे अधिक 73 रनों की पारी खेली जबकि इंग्लैंड के लिए जोफ्रा आर्चर और मार्क वुड ने तीन-तीन विकेट अपने नाम किए। जोए रूट ने दो, और क्रिस वोक्स के साथ लियाम प्लंकट ने एक-एक विकेट अपने नाम किया।

खराब रही शुरुआत

तेज गेंदबाजों को पिच से मदद मिल रही थी और वोक्स नेअपने दूसरे ही ओवर में एविन लुईस को बोल्ड कर इसे सही साबित कर दिया। तेज खेल दिखाने की कोशिश में क्रिस गेल(36) 13वें ओवर में 54 के कुल योग पर प्लंकेट के शिकार बने। एक रन के बाद शाई होप(11) भी चलते बने।

पूरन और हेटमायर ने संभाली पारी

55 रन पर तीन विकेट गिरने के बाद पूरन को शिमरन हेटमायर का साथ मिला। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 89 रनों की साझेदारी कर टीम की वापसी कराई। जब लग रहा था कि दोनों बड़ी पारी खेलेंगे तभी बदलाव के रूप मे गेंदबाजी पर लाए गए जो रूट ने दो ओवर में दो विकेट निकाल कर मध्यक्रम में सेंध लगा दी। उन्होंने पहले हेटमायर(39) फिर कप्तान जेसन होल्डर(9) को अपने ही गेंद पर कैच कर पवेलियन की राह दिखा दी।

नहीं चले पावर हिटर

32 ओवर तक वेस्टइंडीज के आधे बल्लेबाज पवेलियन की राह देख चुके थे। उन्होंने अपने पावर हिटर आंद्रे रसेल से एक बड़ी और तेज पारी की उम्मीद थी। रसेल ने दो छक्के लगाकर शुरुआत तो की लेकिन 16 गेंद में 21 रन बनाकर वुड के शिकार बन गए। अभी टीम का स्कोर 200 के पार पहुंचा ही था कि आर्चर ने पूरन की पारी का अंत कर टीम को मूसीबत में डाल दिया। कार्लोस ब्रैथवेट गिरते विकेट के बीच धीमे हो गए लेकिन पारी को 14 से आगे नहीं ले जा सके।

Leave a Response

Shashank

The author Shashank

2011 विश्व कप के साथ शशांक ने अपनी खेल पत्रकारिता की शुरआत की। क्रिकेट के मैदान से लेकर हर छोटी बड़ी खबरों पर इनकी नज़र रहती है। खेल की बारीकियों से लेकर रिकॉर्ड बुक तक, हर उस पहलू पर नजर होती है जिसे आप पढ़ना और जानना चाहते हैं। क्रिकेट के अलावा दूसरे खेलों में भी इनकी गहरी रूची है। कई बड़े मीडिया हाउस को अपनी सेवा दे चुके हैं।