close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

अच्छे प्रदर्शन के बावजूद भी इन 3 खिलाड़ियों को नहीं मिली अधिक तवज्जो

क्रिकेट के खेल में हम सभी ने कभ बार ऐसा देखा है कि कुच खिलाड़ी ऐसे होते हैं, जो लगातार अपनी टीम के लिए बेहतर प्रदर्शन करते हैं, लेकिन इसके बावजूद उनकी गिनती मैच विनर खिलाड़ी के तौर पर नहीं की जाती है। टीम में ऐसे खिलाड़ी अपनी जगह को बनाने में हर बार कामयाब रहते हैं, लेकिन उनके प्रदर्शन को लेकर किसी का भी अधिक ध्यान नहीं जाता है।

ऐसे हम कई खिलाड़ी देखने को मिले हैं, जिसके बाद हम आपको वर्तमान में ऐसे 3 खिलाड़ियों के नामों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने अपनी टीम के लिए एक सहयोगी खिलाड़ी के तौर पर बेहतर प्रदर्शन किया है लेकिन उसपर किसी का ध्यान नहीं गया।

3 – जेसन होल्डर (वेस्टइंडीज)

वेस्टइंडीज़ टीम को लंबे समय के बाद एक ऐसा खिलाड़ी मिला जो टीम के लिए तीनों ही फॉर्मेट में फिट साबित होता है। जेसन होल्डर ने लगातार विंडीज़ टीम के लिए प्रदर्शन करते हुए जीत दिलाने में एक अहम किरदार निभाया है। लेकिन टीम में उनके प्रदर्शन पर अधिक किसी ने ध्यान नहीं दिया जिसके चलते होल्डर को वह मुकाम अभी तक नहीं मिल सका जो बाकी विंडीज़ खिलाड़ियों को मिला हुआ है। इसकी सबसे बड़ी विंडीज़ टीम में कई मैच विनर का मौजूद होने के साथ उनका अधिक टी-20 फॉर्मेट पर होना है। होल्डर अभी तक 47 टेस्ट 118 वनडे और 20 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने के बाद जहां से बल्ले से 28.17 के औसत से 4,253 रन बना चुके हैं। वहीं गेंद से होल्डर ने 32.68 के औसत से 278 विकेट हासिल किए हैं।

2 – मिचेल सेंटनर (न्यूजीलैंड)

न्यूजीलैंड टीम के बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज मिचेल सेंटनर के प्रदर्शन पर ध्यान दिया जाए तो वह वर्तमान में बाकी कीवी स्पिन गेंदबाजों से कहीं बेहतर कर रहे हैं। मिचेल सेंटनर ने पिछले काफी समय से न्यूजीलैंड टीम के लिए लिमिटेड ओवर्स फॉर्मेट में एक प्रमुख स्पिन गेंदबाज के तौर पर खेल रहे हैं। लेकिन इसके बावजूद टीम में उनके प्रदर्शन को अधिक ध्यान नहीं दिया जाता है। इसकी सबसे बड़ी वजह न्यूजीलैंड टीम में मौजूद तेज गेंदबाज हैं जो एक मैच विनर के तौर पर खेलते हैं। सेंटरन अभी तक न्यूजीलैंड के लिए 150 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं जिसमें उन्होंने 33.14 के औसत से 176 विकेट हासिल किए हैं। इसके अलावा सेंटनर निचलेक्रम में एक बल्लेबाज की भूमिका भी निभाते हुए दिखे हैं।

3 – ईशांत शर्मा (भारत)

भारतीय टीम के लिए वर्तमान में एक टेस्ट विशेषज्ञ गेंदबाज के तौर पर खेलने वाले ईशांत शर्मा उन चुनिंदा भारतीय खिलाड़ियों में से एक हैं, जिन्होंने 100 से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय टेस्ट मैच खेले हैं। ईशांत शर्मा ने पिछले कुछ सालों से भारतीय टीम के लिए टेस्ट क्रिकेट में तीसरे तेज गेंदबाज की भूमिका को बखूबी निभाते हुए नजर आए हैं लेकिन इसके बावजूद उनके प्रदर्शन पर ज्यादा किसी का ध्यान हीं गया है। इसकी सबसे बड़ी वजह वह एक मैच विनर गेंदबाज नहीं हैं। ईशांत ने अपना आखिरी वनडे मैच साल 2016 में खेला तो वहीं आखिरी टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच साल 2013 में खेलने के बाद लगातार टेस्ट क्रिकेट में ही खेलते हुए दिख रहे हैं। अभी तक ईशांत ने भारत के लिए 195 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलते हुए 32.26 के औसत से 426 विकेट हासिल किए हैं।

Leave a Response