close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

क्या दिग्गजों की वापसी से वेस्टइंडीज टी-20 विश्वकप फिर से जीत पाएगी

इस साल के आखिर में यूएई में खेले जाने वाले टी-20 वर्ल्डकप को लेकर सभी टीमों ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। वहीं गत विजेता वेस्टइंडीज की टीम ने भी अपनी तैयारियों को पुख्ता करने के लिए पूर्व टी-20 दिग्गज खिलाड़ियों को वापस टीम में शामिल करने का फैसला किया है। इसमें क्रिस गेल, आंद्रे रसेल जैसे खिलाड़ी एक बार फिर से विंडीज टीम के लिए खेलते हुए दिख रहे हैं।

वेस्टइंडीज की टीम को लेकर बात की जाए तो उनके पास बाकी टीमों के मुकाबले सबसे शानदार टी-20 फॉर्मेट के खिलाड़ी मौजूद हैं, जो अपने दम पर टीम को जीत दिलाने की क्षमता रखते हैं। इसी के चलते जहां पहले वेस्टइंडीज की टीम एक समय कमजोर दिखाई दे रही थी, तो वहीं अब युवा और अनुभव खिलाड़ियों का संतुलन टीम को बेहद खतरनाक बना रहा है।

अफ्रीका के खिलाफ दिखा पूर्व खिलाड़ियों का जलवा

वेस्टइंडीज की टीम को अभी टी-20 वर्ल्डकप से पहले 3 टी-20 सीरीज खेलनी हैं, जिसमें वह इस समय अफ्रीका के साथ अपने देश में 5 मैचों की टी-20 सीरीज खेल रही है। इस सीरीज में टीम के पूर्व खिलाड़ियों ने एकबार फिर से खुद को साबित किया है। इसमें ड्वेन ब्रावो ने जहां गेंदबाजी में कमाल दिखाया तो वहीं आंद्रे रसेल के ऑलराउंडर प्रदर्शन ने सभी को बेहद प्रभावित किया है।

इसके चलते टी-20 वर्ल्डकप में वेस्टइंडीज की एक मजबूत टीम मैदान में उतरते हुए देखी जा सकती है, जो किसी भी टीम को हराने की क्षमता रखती है। वहीं विंडीज खिलाड़ियों को यूएई के हालात में खेलना भी काफी फायदेमंद साबित हो सकता है, क्योंकि वहां की धीमी पिचे उनके घरेलू हालात की तरह ही है। इस कारण ब्रावो और रसेल जैसे गेंदबाज काफी अहम भूमिका निभा सकते हैं।

विंडीज टीम को अफ्रीका के बाद घर पर ही ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के साथ 5-5 मैचों की टी-20 सीरीज खेलनी है, जो टीम की तैयारियों को और अधिक पुख्ता करेगी। इस टीम के पास ओपनिंग बल्लेबाज के रूप में एविन लुईस और क्रिस गेल के रूप में 2 सबसे बड़े खिलाड़ी मौजूद हैं, वहीं मध्यक्रम में टीम के पास शिमरॉन हेटमायर के रूप एक ऐसा बल्लेबाज है, जो गेंद को ताकत के दम पर मैदान से बाहर आराम से मार सकता है।

Leave a Response