close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

क्या भारतीय टेस्ट टीम में भुवनेश्वर कुमार की जगह बनती है

कुछ दिन पहले ऐसी खबरें सामने आई थी कि भारतीय टीम के स्विंग गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार अब सिर्फ टी-20 फॉर्मेट में ही ध्यान लगाना चाहते हैं। इसकी सबसे बड़ी वजह उनका इंग्लैंड के दौरे पर चुनी गई टीम में चयन ना होना भी बताया जा रहा था, क्योंकि भुवी पिछले काफी समय से फिटनेस की समस्या से लगातार जूझते हुए दिखाई दिए हैं। हालांकि स्विंग कुमार ने इन खबरों का खंडन करते हुए, इसे फेक न्यूज करार दिया था।

भुवनेश्वर कुमार ने साल 2018 में भारतीय टीम के लिए अपना आखिरी टेस्ट मैच दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जोहान्सबर्ग के मैदान में खेला था। जिसके बाद वह फिर टेस्ट क्रिकेट में खेलते हुए नहीं दिखे हैं। इसकी सबसे बड़ी वजह भुवी की फिटनेस और प्रदर्शन बताई जा रही है, जिसमें ऐसा कहा जा रहा है कि अब वह वनडे क्रिकेट खेलने के लिए भी उतने फिट नहीं दिखाई देते हैं।

अभी तक खेले हैं 21 टेस्ट मैच

भुवी ने अपने टेस्ट करियर की शुरूआत साल 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ की थी, जिसके बाद से वह अभी तक अपने करियर में 21 टेस्ट मैच खेल चुके हैं, जिसमें उन्होंने 37 पारियों में गेंदबाजी करते हुए 26.1 के औसत से 63 विकेट हासिल किए हैं। इसमें भुवि की इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स के मैदान में लिए गए एक पारी में 6 विकेट लेने के कारनामे को कोई नहीं भूल सकता है। भुवनेश्वर ने अपने टेस्ट करियर में अभी तक 4 बार 5 विकेट भी हासिल किए हैं।

बल्लेबाजी में भी दिखाया कमाल

टेस्ट क्रिकेट में यदि किसी टीम के पास एक ऐसा खिलाड़ी मौजूद होता है, जो नई गेंद के साथ गेंदबाजी करने के अलावा निचलेक्रम में एक उपयोगी बल्लेबाज की भूमिका को भी निभा सकता है, तो वह काफी महत्वपूर्ण खिलाड़ी बन जाता है। भुवी ने अपनी बल्लेबाजी के दम पर भी काफी सुर्खियां बटोरी हैं, जिसमें उन्होंने 29 पारियों में बल्लेबाजी करते हुए 22.08 के औसत से 552 रन बनाए हैं, इसमें 3 अर्धशतकीय पारियां भी शामिल हैं।

क्या टीम में बनेगी जगह

इंग्लैंड के दौरे में भले ही भुवनेश्वर कुमार को चयनकर्ताओं ने जगह नहीं दी है, लेकिन टीम के आने वाले दौरों पर वह एक ऑलराउंडर के विकल्प के तौर पर शामिल किए जा सकते हैं। जिसमें वह टीम के लिए हार्दिक पांड्या का एक बेहतर विकल्प हो सकते हैं, जो गेंद के साथ कमाल दिखाने के अलावा बल्लेबाजी में भी योगदान दे सके।

Leave a Response