close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

ENGvsIRE: आंकड़ों में तीन मैचों की वनडे सीरीज का विश्लेषण

इंग्लैंड और आयरलैंड के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज खेली गई। जो कोरोना वायरस महामारी के दौर में खेली गई पहली वनडे सीरीज पर मेजबान टीम ने 2-1 से कब्जा जमाया। इंग्लैंड ने पहले दो मुकाबले जीते और तीसरा हाई-स्कोरिंग मुकाबला आयरलैंड ने जीतकर इतिहास रच दिया। आयरिश टीम ने सलामी बल्लेबाज पॉल स्टर्लिंग और एंड्रू बाल्बिरनी के शानदार शतकों के बदौलत 329 रन का लक्ष्य हासिल कर लिया। जबकि इंग्लैंड के कप्तान इयोन मॉर्गन का शतक बेकार साबित हुआ। इस सीरीज में कई आंकड़े उभरकर सामने आए, पढ़ें ये खास विश्लेषणः

1 – तीसरा वनडे जीतते ही आयरलैंड ने इतिहास रच दिया और इंग्लैंड की धरती पहली बार अंतरराष्ट्रीय मैच में जीत हासिल की। इससे पहले टीम को चार वनडे व एक टेस्ट मैच में हार का सामना करना पड़ा था।

1 – तीन मैचों की वनडे सीरीज के तीसरे मैच में मोईन अली ने सिर्फ एक रन बनाए, जो इस सीरीज में उनकी तरफ से बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग के दौरान एकमात्र योगदान है। न उन्होंने इसके अलावा 25 ओवर की गेंदबाजी में विकेट झटके और न ही कोई कैच पकड़ा।

3 – डेविड विली ने इस सीरीज में 8 विकेट व 98 रन बनाए। जो तीन मैचों की सीरीज या टूर्नामेंट में किसी अंग्रेज खिलाड़ी का सबसे बेहतरीन प्रदर्शन है, इससे पहले चैंपियंस ट्रॉफी 2004 में एंड्रू फ्लिंटॉफ ने चार मैचों में 9 विकेट व 129 रन बनाए थे।

5 – इयोन मॉर्गन और एंड्रू बाल्बिरनी ने तीसरे वनडे में शतकीय पारी खेली, इंग्लैंड की धरती पर ऐसा पहली बार हुआ है कि दोनों टीमों के कप्तानों ने एक ही मैच में शतक बनाया हो। वहीं कुल मिलाकर ये पांचवा ऐसा मौका है, जब दोनों टीमों के कप्तानों ने वनडे में शतकीय पारी खेली।

21 – जॉनी बेयरेस्टो ने दूसरे वनडे में महज 21 गेंदों में तूफानी अर्द्धशतक जड़ा। इस तरह उन्होंने इयोन मॉर्गन के 21 गेंदों के पचासे की बराबरी कर ली। दोनों बल्लेबाज अब इंग्लैंड की तरफ से सबसे तेज अर्द्धशतक बनाने के मामले में संयुक्त रूप से शीर्ष पर विराजमान हैं।

215 – बतौर कप्तान इयोन मॉर्गन ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा छक्का लगाने के मामले में भारत के पूर्व कप्तान एमएस धोनी को पीछे छोड़ दिया। धोनी ने 211 छक्के लगाए थे, जबकि मॉर्गन के छक्कों की संख्या अब 215 हो गई है।

329 – तीसरे वनडे में आयरलैंड ने 329 रन का सफल चेज करके इतिहास रच दिया और इंग्लैंड के उसी की धरती पर मेहमान टीम का सबसे बड़ा सफल चेज है। इससे पहले भारत ने साल 2002 में नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल में 326 रन का सफल चेज किया था।

आईपीएल में न खेल पाने का मलाल नहींः मिचेल स्टार्क

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।