close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

इंग्लैंड में भारतीय गेंदबाजों द्वारा किए गए 5 सबसे शानदार प्रदर्शन

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के दूसरे संस्करण की शुरुआत इंग्लैंड बनाम भारत के बीच 5 टेस्ट मैचों की सीरीज के साथ होगी। इस सीरीज का पहला मैच नॉटिंघम के मैदान में खेला जाएगा, जिसके लिए दोनों ही टीमें पूरी तरह से तैयार हैं। इस बार भारतीय टीम के फैंस को उनसे सीरीज जीतने की काफी उम्मीद है, क्योंकि टीम के पास शानदार बल्लेबाजी क्रम होने के साथ अनुभवी गेंदबाज भी मौजूद हैं।

इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह, उमेश यादव, रविंद्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन को इंग्लैंड में इससे पहले टेस्ट क्रिकेट खेलने का अनुभव हासिल है। वहीं टीम के पास इस बार बल्लेबाजी में भी ऐसे खिलाड़ी हैं, जिनके पास इंग्लैंड की पिचों पर खेलने का अनुभव हासिल है। हम आपको इस आर्टिकल में इंग्लैंड में भारतीय गेंदबाजों द्वारा किए गए टॉप-5 प्रदर्शन के बारे में बताने जा रहे हैं।

5 – अनिल कुंबले (साल 2002, लीड्स टेस्ट)

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और टेस्ट क्रिकेट के दिग्गज गेंदबाजों में शुमार किए जाने वाले अनिल कुंबले का विदेशी पिचों पर भी दबदबा देखने को मिला। साल 2002 में भारतीय टीम के इंग्लैंड दौरे के दौरान सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच लीड्स के मैदान में खेला गया था। इस मैच में भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने टॉस जीतते हुए पहले बल्लेबाजी करने का फैसला।

सचिन तेंदुलकर के 193, राहुल द्रविड़ के 148 और सौरव गांगुली के 128 रनों की बदौलत भारतीय टीम ने अपनी पहली पारी में 628 रन बना दिए। इसके बाद इंग्लैंड टीम की पहली पारी सिर्फ 273 के स्कोर पर सिमट गई और उसे फॉलोआन खेलने पर मजबूर होना पड़ा। जिसके बाद दूसरे पारी में अनिल कुंबले ने 66 रन देते हुए 4 विकेट हासिल किए और मेजबान टीम को 309 के स्कोर पर समेटने में अहम भूमिका अदा की। भारतीय टीम ने इस मैच में 1 पारी और 46 रनों से जीत हासिल की।

4 – जहीर खान (साल 2007, नॉटिंघम टेस्ट)

बाएं हाथ के गेंदबाज जहीर खान की गिनती भारतीय टीम के सफल तेज गेंदबाजों में होती है और उनका इंग्लैंड की पिचों में शानदार रिकॉर्ड भी देखने को मिलता है। भारतीय टीम के साल 2007 के दौरे में सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच नॉटिंघम के मैदान में खेला गया था। इस मैच में भारतीय टीम ने टॉस जीतते हुए पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया।

जहीर खान ने पहले पारी में 59 रन देते हुए जहां 4 विकेट हासिल किए और इंग्लैंड को 198 के स्कोर पर समेटने में अहम भूमिका अदा की। इसके बाद भारतीय टीम ने अपनी पारी में 481 रन बनाने के साथ बड़ी बढ़त हासिल कर ली थी। मेजबान टीम ने अपनी दूसरी पारी में 355 रन जरूर बनाए, लेकिन इसमें जहीर ने एकबार फिर से शानदार गेंदबाजी करते हुए 5 विकेट हासिल किए। वहीं भारतीय टीम ने मैच में 7 विकेट से जीत हासिल की, जबकि जहीर को शानदार गेंदबाजी प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ दी मैच का खिताब दिया गया।

3 – भुवनेश्वर कुमार (साल 2014, लॉर्ड्स टेस्ट)

साल 2014 में इंग्लैंड और भारत के बीच खेला गया लॉर्ड्स टेस्ट मैच भारतीय टीम के क्रिकेट इतिहास में ऐतिहासक जीत के तौर पर माना जाएगा। इस टेस्ट मैच में मेजबान टीम ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और भारतीय टीम की पहली पारी को 295 के स्कोर पर समेट दिया। इसके बाद भारत की तरफ से भुवनेश्वर कुमार ने 82 रन देकर 6 विकेट हासिल करते हुए इंग्लैंड की पहली पारी को 319 रनों पर समेट दिया।

2 – इशांत शर्मा (साल 2014, लॉर्ड्स टेस्ट मैच)

इशांत शर्मा ने साल 2014 के लॉर्ड्स टेस्ट मैच की चौथी पारी में जिस तरह से इंग्लैंड के बल्लेबाजों के खिलाफ बाउंसर गेंदों का इस्तेमाल किया, उससे सभी प्रभावित हुए थे। इंग्लैंड की टीम को चौथी पारी में 319 रनों के लक्ष्य का पीछा करना था। लेकिन इशांत शर्मा की घातक गेंदबाजी के आगे पूरी टीम 223 के स्कोर पर ही सिमट गई। इशांत ने 74 रन देते हुए 7 खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा था। इस मैच में भारतीय टीम के 2 सबसे अनुभवी तेज गेंदबाजों का शानदार प्रदर्शन देखने को मिला था।

1 – जसप्रीत बुमराह (साल 2018, नॉटिंघम टेस्ट मैच)

भारतीय टीम ने इंग्लैंड का आखिरी दौरा साल 2018 में किया था। इस दौरान दोनों टीमों के बीच सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच नॉटिंघम के मैदान में खेला गया था। इंग्लैंड ने टॉस जीतते हुए पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और भारतीय टीम की पहली पारी को 329 के स्कोर पर समेट दिया। इसके बाद इंग्लैंड भी हार्दिक पंड्या की शानदार गेंदबाजी के आगे संघर्ष करती हुई दिखाई दी और 161 के स्कोर पर सिमट गई।

चौथी पारी में इंग्लैंड को भारतीय टीम ने 521 रनों का विशाल लक्ष्य दिया और इस दबाव के आगे पूरी टीम 317 के स्कोर पर ही सिमट गई। जसप्रीत बुमराह ने 85 रन देते हुए इंग्लैंड की दूसरी पारी में 5 विकेट हासिल किए।

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।