close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

तीन महीने व कुछ रणजी मैच दे दीजिए टेस्ट में फिर रन बना दूंगा: सौरव गांगुली

भारतीय क्रिकेट में दादा के नाम से मशहूर रहे सौरव गांगुली ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए मेरा मन एक बार फिर आकर्षित हो रहा है। यही नहीं उन्होंने कहा कि भारत के लिए रन भी बना सकते हैं। बस उन्हें तीन महीने की ट्रेनिंग और कुछ रणजी मैच खेलने को मिल जाएं। उसके बाद वह टेस्ट क्रिकेट में रन बनाकर सभी को दिखा देंगे।

बांग्ला अखबार से की बातचीत

बीसीसीआई के मुखिया गांगुली ने हाल ही में बांग्ला अखबार ‘संवाद प्रतिदिन’ से लंबी बातचीत की है। इसी दौरान उन्होंने ये बातें कही है। अखबार ने उनके क्रिकेटिंग करियर के आखिरी दिनों के बारे में बात की है। गांगुली ने कहा कि अगर मुझे दो और वनडे सीरीज खेलने को मिली होती, मैं और रन बनाता। साथ ही अगर मैं ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नागपुर टेस्ट में रिटायर नहीं होता तो मैं आगामी दो टेस्ट सीरीज में भी रन बनाने में सफल होता। इसी दौरान उन्होंने कहा कि सच कहूं तो आप मुझे अभी ट्रेनिंग के लिए छह महीने दे दीजिए और मुझे रणजी मैच खेलने दीजिए, मैं भारत के लिए अभी भी टेस्ट क्रिकेट में रन बना दूंगा। मुझे 6 महीने भी नहीं चाहिए।

अचानक वनडे टीम से बाहर हो गए थे गांगुली

भारत के इस महान दिग्गज ने कहा कि आप मुझे खेलने का मौका तो नहीं देंगे, लेकिन मेरे आत्मबल को कैसे तोड़ पाएंगे। दरअसल सौरव गांगुली को वनडे क्रिकेट से अनौपचारिक ढंग से बाहर कर दिया गया था, जबकि साल 2007-08 में टॉप स्कोरर बल्लेबाज थे।

गांगुली ने जताई नाराजगी

सौरव गांगुली ने कहा कि जब उन्हें वनडे टीम से बाहर किया गया था, तो उन्हें बहुत हैरानी हुई थी। उस वक्त मैं वनडे में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों में था। ऐसे में मैं यही कहूंगा कि आपसे मंच ही छीन लिया जाए तो इसका कोई मतलब नहीं है कि आपकी परफॉर्मेंस कितनी अच्छी है। बिना मंच के आप खुद को कैसे साबित करेंगे? यही मेरे साथ हुआ।

साल 2005 में छिनी थी कप्तानी

भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली की कप्तानी साल 2005 में ग्रेग चैपल के समय में छीन ली गई थी। बाद में उन्हें टीम से भी बाहर कर दिया गया था। साल 2006 में सौरव गांगुली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में दमदार वापसी की और उसके बाद काफी रन बनाए। सचिन तेंदुलकर तक ने तब कहा था कि उन्होंने गांगुली का बेस्ट अभी देखा है।
शानदार रहा है गांगुली का करियर

ऐसा रहा करियर

गांगुली ने 113 टेस्ट मैचों में 16 सेंचुरी और 42.17 की औसत के साथ कुल 7212 रन बनाए हैं। वहीं वनडे की बात करें तो उन्होंने 311 मैचों में 41.02 की औसत से 11,363 रन बनाए हैं, जिसमें 22 सेंचुरी शामिल हैं। गांगुली ने अपने करियर में एक भी टी20 इंटरनैशनल मैच नहीं खेला। गांगुली को टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तानों में शुमार किया जाता है।

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड दौरे के लिए घोषित की 26 सदस्यीय टीम

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।