close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

हरमनप्रीत कौर: जिन्हें भारत की वंडर गर्ल भी कहा जाता है

भारतीय महिला टी-20 क्रिकेट टीम की वर्तमान कप्तान हरमनप्रीत कौर का जन्म 8 मार्च 1989 को विश्व महिला दिवस के दिन हुआ था। हरमनप्रीत को भारतीय क्रिकेट जगत में वंडर गर्ल के नाम से पहचाना जाता है। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण उनका इस खेल में अलग ही अंदाज से प्रदर्शन करना है, जिससे महिला क्रिकेट को भी भारत में अलग से देखा जाने लगा।

पिता भी खेल से जुड़े थे

हरमनप्रीत कौर के पिता का नाम हरमंदर सिंह भुल्लर और मां का नाम सतविंदर सिंह है। हरमन के पिता एक वॉलीबॉल और बास्केटबॉल खिलाड़ी थे। हरमन बचपन में अपने छोटे भाई और उनके दोस्तों के साथ क्रिकेट खेला करती थीं। जिसके बाद इस खेल में रुचि बढ़ने से उन्होंने करियर बनाने का फैसला किया और शुरूआती ककहरा हरमन ने अपने पिता से सीखा।

घर से 30 किलोमीटर दूर थी अकेडमी

क्रिकेट में रुझान बढ़ने के चलते हरमन को घर से 30 किलोमीटर दूर न्यू ज्ञान ज्योति अकेडमी जाना पड़ता था। जिसके बाद अकेडमी के कोच कमलदीश सिंह सोढ़ी ने उन्हें मुफ्त कोचिंग और ठहरने की व्यवस्था कर दी। जिसके बाद हरमन ने अपने इरादों को और पुख्ता करते हुए इस खेल में अपना करियर बनाने का भी फैसला किया।

2009 में मिला पहला मौका

साल 2009 में हरमनप्रीत कौर को पहली बार भारतीय महिला वनडे टीम से खेलने का मौका मिला। जिसमें 7 मार्च को उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के बोअरल में पाकिस्तान के खिलाफ मैच खेला था। इसके बाद हरमन ने 11 जून 2009 में ही इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 क्रिकेट में भी पदार्पण किया। हालांकि टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने के लिए हरमन को थोड़ा इंतजार करना पड़ा और साल 2014 में इंग्लैंड के खिलाफ उन्होंने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय टेस्ट मैच खेला।

यादगार पारियां

हरमनप्रीत कौर के बल्ले से वैसे तो कई यादगार पारियां क्रिकेट पिच पर देखने को मिली है। लेकिन साल 2017 के महिला वनडे क्रिकेट विश्वकप के सेमीफाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली गई 115 गेंदों में 177 रनों की पारी अभी तक सभी के दिलों मे ताजा है। वहीं भारतीय महिला क्रिकेट की तरफ से विश्वकप में यह सबसे बड़ी व्यक्तिगत पारी भी थी। इसके अलावा हरमन ने साल 2018 के महिला टी-20 विश्वकप में 51 गेंदों में 103 रनों की पारी खेली थी, जिसके बाद वह विश्वकप में ऐसा करने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बन गई।

100 टी-20 मैच खेलने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी

भारत की तरफ से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में महिला और पुरुष मिलाकर हरमनप्रीत कौर पहली ऐसी खिलाड़ी हैं, जिनके नाम सबसे पहले 100 टी-20 मैच खेलने का रिकॉर्ड दर्ज है। वहीं हरमन भारत की तरफ से महिला क्रिकेट में 100 वनडे मैच खेलने वाली 5वीं खिलाड़ी बन गई हैं।

अभी तक ऐसा रहा करियर

हरमनप्रीत कौर के अभी तक के अंतरराष्ट्रीय करियर पर एक नजर डाली जाए तो उन्होंने 100 वनडे मैच की 83 पारियों में 34.95 के औसत से 2412 रन बनाए हैं , जिसमें 3 शतक और 11 अर्धशतकीय पारियां शामिल हैं। इसके अलावा 114 टी-20 मैचों की 102 पारियों में हरमन ने 26.98 के औसत से 2186 रन बनाए हैं, जिसमें 1 शतक और 6 अर्धशतक भी शामिल हैं। हरमन को उनके शानदार खेल के लिए साल 2017 में अर्जुन पुरस्कार भी मिल चुका है।

हरमनप्रीत कौरः जानें उनके बारे में 7 दिलचस्प बातें

Leave a Response