close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

भारत-बांग्लादेश टी20: दो मुकाबले जब बढ़ गई थी करोड़ों फैन्स की धड़कने

पहली बार भारतीय टीम अपने जमीन पर टी20 क्रिकेट में बांग्लादेश की मेजबानी करने जा रही है। 3 नवंबर से तीन मैचों की सीरीज का आगाज होगा। जिसके बाद दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जाएगी। बांग्लादेश के खिलाफ टी20 क्रिकेट में भारत का रिकॉर्ड 100 प्रतिशत का रहा है। अब तक खेले गए सभी 8 मुकाबलों में उन्होंने बांग्लादेश को मात दी है। हालांकि दो मौके ऐसे आए जब फैन्स क्या खुद भारतीय खिलाड़ियों के होश उड़ गए थे और हार जीत का फैसला आखिरी गेंद पर हुआ था।

रुक गई थी सांसे और धोनी ने किया था चमत्कार

महेन्द्र सिंह धोनी को विश्व क्रिकेट आखिरी दांव के लिए हमेशा याद रखेगा। रोमांचक मोड़ पर पहुंचा कोई मुकाबला हो या हाथ से फिसलती बाजी हो, वो आखिरी ओवर में कुछ ऐसे फैसले ले लेते थे जिससे विरोधी टीम के सभी समीकरण बिगड़ जाया करते थे। कप्तानी छोड़ने से तकरीबन एक साल पहले उन्होंने ऐसा ही कुछ टी 20 विश्व कप के दौरान किया था।

पढ़ें – IND vs BAN: टी 20 में रोहित लगाएंगे खास शतक, बनेंगे नए रिकॉर्ड

भारत को नॉकआउट में पहुंचने के लिए बांग्लादेश के खिलाफ हर हाल में जीत दर्ज करनी थी। लेकिन बल्लेबाज स्कोरबोर्ड को सिर्फ 146 तक ही पहुंचा सके। बांग्लादेश की शुरुआत तो खराब रही लेकिन छोटी-छोटी पारियों ने उन्हें मैच में बनाए रखा। मुकाबला आखिरी ओवर तक पहुंच गया। बांग्लादेश को जीत के लिए 11 रन बनाने थे और टीम के होनहार बल्लेबाज मुशफिकुर रहीम और महमदुल्लाह विकेट पर जमे हुए थे।

आखिरी ओवर के दबाव के बीच कप्तान धोनी ने गेंद हार्दिक पांड्या को थमी दी। पहली तीन गेंद में दो चौके के साथ कुल 9 रन लेकर बांग्लादेशी बल्लेबाजों ने जीत का जश्न पहले ही मना लिया। जिसका खामियाजा उन्हें आखिरी के तीन गेंदों पर भुगतना पड़ा, अतिआत्मविश्वास के चक्कर में दोनों ही जमे हुए बल्लेबाज हवा में शॉट खेल अपना विकेट गंवा दिए।

आखिरी गेंद पर बांग्लादेश को जीत के लिए दो रन बनाने थे, बल्लेबाज गेंद को मारने में असफल रहा इस बीच विकेट के पीछे पहले से भविष्य को भांप चुके धोनी ने उसेन बोल्ट की तरह दौड़ लगाते हुए मुस्तफिजुर रहमान को रन आउट कर भारत को एक रन से रोमांचक जीत दिला दी और फैन्स को झूमने पर मजबूर कर दिया

कार्तिक ने रख ली टीम इंडिया की लाज

दो साल बाद एक बार फिर बांग्लादेश ने भारत को पटखनी देने की पूरी कोशिश की। नागिन डांस के सहारे निदहास ट्रॉफी को नया आयाम देने वाली बांग्लादेश की टीम मेजबान श्रीलंका को हराकर फाइनल में पहुंची और भारत के सामने जीत के लिए 167 रनों का लक्ष्य रखा।

विराट कोहली की जगह रोहित शर्मा भारतीय टीम के कप्तान थे और 56 रनों की बेहतरीन पारी भी खेली लेकिन दूसरे बल्लेबाज पारी को मैच जिताऊ नहीं बना पाए। 133 के कुल स्कोर पर भारत ने पांच विकेट गंवा दिए थे जिसके बाद मोर्चा संभाला विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने।

देश के पहले टी 20 मुकाबले में छक्का लगाकर जीत दिला चुके कार्तिक एक बार फिर भारत की नैया पार कराने के लिए पूरी तरह तैयार थे। टीम को आखिरी के दो ओवर में 34 रन बनाने थे। कार्तिक ने 19वें जमकर रन बटोरे और मुकाबले को आखिरी गेंद के रोमांच तक ले गए। अंतिम गेंद में भारत को पांच रनों की जरूरत थी और कार्तिक ने कवर के ऊपर से अविश्वसनीय छक्का लगाकर न सिर्फ टीम को जीत दिलाई बल्कि फैन्स को एक और नागिन डांस से बचा लिया। फाइनल मुकाबले में टीम को टीम को चार विकेट से जीत मिली जबकि 8 गेंदों में 3 छक्के और दो चौकों की मदद 29 रन बनाने वाले कार्तिक को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

तीन नवंबर से शुरू हो रही टी 20 सीरीज में एक बार फिर फैन्स को ऐसे ही रोमांचक मुकाबलों का इंतजार होगा।

क्या मौजूदा हालात में आईपीएल होना चाहिए ? Live

  • हां
  • नहीं

Leave a Response

Shashank

The author Shashank

2011 विश्व कप के साथ शशांक ने अपनी खेल पत्रकारिता की शुरआत की। क्रिकेट के मैदान से लेकर हर छोटी बड़ी खबरों पर इनकी नज़र रहती है। खेल की बारीकियों से लेकर रिकॉर्ड बुक तक, हर उस पहलू पर नजर होती है जिसे आप पढ़ना और जानना चाहते हैं। क्रिकेट के अलावा दूसरे खेलों में भी इनकी गहरी रूची है। कई बड़े मीडिया हाउस को अपनी सेवा दे चुके हैं।