close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

भविष्य में भी टीम इंडिया दो टीमों को मैदान में उतारेगीः अरुण धूमल

ऐसे मौके कम ही आए हैं, जब क्रिकेट प्रेमियों को दो भारतीय टीम देखनी को मिली है। जुलाई में जब टीम इंडिया इंग्लैंड के साथ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेल रही होगी। तब उसी समय शिखर धवन की कप्तानी में दूसरी भारतीय टीम श्रीलंका के दौरे पर तीन वनडे व तीन टी-20 आई मैचों की सीरीज खेल रही होगी। दरअसल कोरोना के चलते अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कैलेंडर में काफी बदलाव हो गए। जिसके चलते ऐसी विलक्षण परिस्थिति बनी जिससे दो भारतीय टीम की घोषणा करनी पड़ी।

कोरोना वायरस के दौर में क्रिकेट में कई क्वारंटाइन नियम व प्रोटोकॉल बन जाने से टीमों को किसी भी दौरे पर ज्यादा समय देना पड़ रहा है। बॉयो-बबल में खिलाड़ी लंबे समय तक रह रहे हैं, जिससे उन्हें थकान हो रही है। इस दौर में क्रिकेट खेलने की चुनौतियां बढ़ती ही जा रही हैं। इसी को देखते हुए भारतीय कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने ये बात साफ की है और कहा अगर कोरोना वायरस की चुनौतियां रहीं तो दो टीमों को मैदान पर उतारा जा सकता है।

एनडीवी से धूमल ने कही ये बात

“भारत युवा खिलाड़ियों के साथ सीमित ओवर की सीरीज का एक दौरा और कर सकती है। ऐसा तब होगा जब मुख्य टीम किसी और दौरे पर होगी या ब्रेक पर होगी। इसमें कोरोना वायरस का फैक्टर भी हो सकता है।”

दो भारतीय टीमों के मैदान पर उतारने से बढ़ सकती है सीमित ओवर की सीरीजः धूमल

“अगर दो भारतीय टीम मैदान पर उतारी जाएं तो इससे सीमित ओवर की सीरीज को बढ़ावा मिलेगा। द्विपक्षीय सीरीज अगर ज्यादा होंगी तो इससे अन्य बोर्ड जो इस महामारी में आर्थिक चुनौतियों से लड़ रहे हैं उन्हें फायदा होगा। इसलिए अब इस बुरे दौर में नई सोच को बढ़ावा देना होगा, क्योंकि बीते 18 माह में काफी नुकसान हुआ है। इसके अलावा बेंच स्ट्रेंथ को मजबूती मिलेगी और नए खिलाड़ियों को अपना हुनर दिखाने का मौका मिलेगा।”

श्रीलंका दौरे पर बीसीसीआई ने 6 अनकैप्ड खिलाड़ियों को टीम में मौका दिया है। हालांकि घोषित भारतीय टीम में कई ऐसे खिलाड़ी हैं, जो आईपीएल में खुद को साबित कर चुके हैं। वहीं दूसरी तरफ टीम इंडिया न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के बाद इंग्लैंड के साथ टेस्ट सीरीज खेलेगी।

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।