close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

ये हैं वनडे क्रिकेट में भारत की पांच सबसे सफल सलामी जोड़ियां

क्रिकेट के मैदान में कोई भी टीम तभी आसानी से जीत हासिल कर सकती है जब उसके बल्लेबाज और गेंदबाज बेहतरीन प्रदर्शन करें। खासतौर पर सलामी बल्लेबाज क्योंकि यहीं से रनों की नींव बननी शुरू होती है। अगर ओपनिंग बल्ल्बाजों की जोड़ियां बेहतरीन प्रदर्शन कर लंबी साझेदारी करती हैं तो टीम को बाद में जीत हासिल करने में मेहनत भी कम करनी होती है और अगर टीम की ओपनिंग जोड़ी जल्दी टूट जाती है तो फिर पूरी टीम भी ताश के पत्तों की तरह बिखर जाती है। आज हम आपको भारत की पांच सबसे बेहतरीन ओपनिंग जोड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने कई मौंकों पर टीम को शानदार जीत दिलाने में मदद की है। इसके अलावा इन्होंने सबसे ज्यादा शतकीय साझेदारियां भी की हैं।

कृष्णामचारी श्रीकांत और सुनील गावस्कर 

भारतीय क्रिकेट के इतिहास में सुनील गावस्कर और के. श्रीकांत की जोड़ी को सबसे सफल ओपनिंग जोड़ी में से एक माना जाता है। दोनों ने सन 1981 से 1987 के बीच धमाल मचाया था। इसी दौरान सन 1983 में भारतीय टीम ने अपना पहला क्रिकेट विश्वकप भी जीता था, जिसमें इस जोड़ी ने बेहतरीन प्रदर्शन किया था। सुनील गावस्कर और श्रीकांत की जोड़ी ने इन 6 सालों में 55 पारियां एक साथ खेलीं और 30.80 के औसत से 1680 रन बनाए। जिसमें इन्होंने 2 बार शतकीय साझेदारी और 11 बार अर्द्धशतकीय साझेदारी की।

वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर 


गंभीर और सहवाग की ओपनिंग जोड़ी को शायद ही कोई क्रिकेट फैन्स भूला पाए। इस जोड़ी ने लगभग एक दशक तक टीम की ओर से ओपनिंग बल्लेबाजी की और कई बार टीम को शानदार जीत दिलाई। इस जोड़ी ने भारत की ओर से 38 वनडे मैचों में ओपनिंग साझेदारी की जिसमें 50.54 की औसत से कुल 1870 रन बनाए। इस जोड़ी ने एक साथ 5 बार शतकीय साझेदारी और 7 बार अर्द्धशतकीय साझेदारी की। जिसमें इनकी न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली गई 201 रनों की साझेदारी सबसे बेहतरीन साझेदारी रही।

सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली 

भारत के सबसे सफल कप्तानों में से एक सौरव गांगुली और मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर की प्रतिभा किसी से छिपी नहीं है। इन दोनों महान खिलाड़ियों की ओपनिंग जोड़ी ने कई बार अपनी साझेदारी को शतकीय साझेदारी के रूप में तब्दील किया और टीम को जीत दिलाई। यही नहीं इसी कारण इनकी जोड़ी को दुनिया की सबसे बेस्ट ओपनिंग जोड़ी में से एक कहा जाता है। इन दोनों खिलाड़ियों के बीच कुल 21 बार 100 से ज्यादा रनों की और 23 बार अर्द्धशतकीय साझेदारी हुई, जो कि किसी भी जोड़ी का सर्वश्रेष्ठ रिकॉर्ड है। सन 1996 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ इन युवा बल्लेबाजों ने पहली बार शतकीय साझेदारी की थी। उस दौरान इनकी जोड़ी ने 126 रन बनाए थे। इस ओपनिंग जोड़ी ने 136 पारियों में 49.32 की औसत से 6609 रन जोड़े।

सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग 

भारत के सबसे बेहतरीन विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग के टीम में शामिल होने के बाद गांगुली ने ओपनिंग करना छोड़ दिया था। ऐसे में ओपनिंग बल्लेबाज में सचिन का साथ वीरेंद्र सहवाग ने दिया और इन दोनों ही खिलाड़ियों बेहद कम समय में अपनी जोड़ी को हिट कर दिया था। दोनों बल्लेबाजों ने साथ में कुल 93 पारियां खेली जिसमें 12 शतक और 18 अर्द्धशतक के साथ 3919 रन बनाए। इन दोनों खिलाड़ियों की सबसे बेहतरीन साझेदारी 15 नवंबर 2003 को क्रिकेट विश्वकप के दौरान देखने को मिली थी। जिसमें इन बल्लेबाजों ने न्यूजीलैंड के खिलाफ हैदराबाद में पहले विकेट के लिए 182 रन जोड़े थे। इन दोनों खिलाड़ियों ने अपनी अंतिम शतकीय साझेदारी साल 2011 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ विश्वकप के दौरान खेली थी।

रोहित शर्मा और शिखर धवन 

PIC – SOCIAL MEDIA

गंभीर और सहवाग की जोड़ी के बाद वर्तमान समय में रोहित शर्मा और शिखर धवन की ओपनिंग जोड़ी ही धमाल मचा रही है। यह वनडे क्रिकेट के साथ ही टी-20 की भी सबसे खतरनाक ओपनिंग जोड़ी में से एक है। इन दोनों खिलाड़ियों ने साल 2013 में पहली बार टीम की तरफ से ओपनिंग बल्लेबाजी की थी। जिसके बाद से यह जोड़ी 13 बार शतकीय साझेदारी और 13 बार अर्द्धशतकीय साझेदारी कर चुकी है। इस दौरान इस ओपनिंग जोड़ी ने 88 इनिंग में 45.88 की औसत से 3992 रन बनाए हैं।

Leave a Response

Shashank

The author Shashank

2011 विश्व कप के साथ शशांक ने अपनी खेल पत्रकारिता की शुरआत की। क्रिकेट के मैदान से लेकर हर छोटी बड़ी खबरों पर इनकी नज़र रहती है। खेल की बारीकियों से लेकर रिकॉर्ड बुक तक, हर उस पहलू पर नजर होती है जिसे आप पढ़ना और जानना चाहते हैं। क्रिकेट के अलावा दूसरे खेलों में भी इनकी गहरी रूची है। कई बड़े मीडिया हाउस को अपनी सेवा दे चुके हैं।