close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

आईपीएल 2020 सीजन रिव्यूः दिल्ली कैपिटल्स – अंतिम बाधा नहीं पार कर पाई दिल्ली

पिछले सीजन में प्लेऑफ के बाद दिल्ली कैपिटल्स ने इस बार फाइनल में जगह बनाई। युवा व अनुभवी खिलाड़ियों से सजी दिल्ली ने इस बार शुरु से टूर्नामेंट में डॉमिनेट किया। लेकिन दुर्भाग्यवश टीम फाइनल में मुंबई इंडियंस की अंतिम बाधा पार नहीं कर पाई।

सकारात्मक बातें

इस साल दिल्ली की टीम में शामिल विदेशी खिलाड़ियों में एनरिच नोर्तजे और मार्कस स्टोइनिस ने शानदार प्रदर्शन किया। क्रिस वोक्स की जगह शामिल हुए एनरिच ने पूरे आईपीएल में 22 विकेट झटके और अपने ही हमवतन कगिसो रबाडा का अच्छा साथ दिया। वहीं रबाडा ने भी 30 विकेट झटके।

स्टोइनिस ने गेंद व बल्ले से इस बार आईपीएल में अपनी कीमत साबित की। उन्होंने 150 से अधिक के स्ट्राइक रेट से 352 रन बनाए और 13 विकेट भी झटके। उन्होंने 2-3 मैचों में अकेले ही दिल्ली को जीत की मंजिल तक पहुंचाया।

बतौर कप्तान श्रेयस अय्यर ने इस सीजन में 519 रन बनाए। साल 2018 में कप्तानी का दायित्व संभालने वाले अय्यर ने अपने खेल व रणनीति से ये साबित कर दिया की वह आईपीएल में लंबी रेस के घोड़े हैं।

टीम का संघर्ष

ऋषभ पंत और पृथ्वी शॉ इस सीजन में संघर्ष करते नजर आए। पंत अपनी आक्रामक शैली का प्रदर्शन नहीं कर सके, जबकि शॉ 7 मैचों में 6 बार इकाई में आउट हुए। जिसके चलते दिल्ली को सलामी बल्लेबाजी में बदलवा करना पड़ा।

इसके अलावा टीम प्रबंधन ने शिमरॉन हेटमायर और हर्षल पटेल का बढ़िया इस्तेमाल नहीं किया। हेटमायर को ज्यादातर 6ठे नंबर पर बल्लेबाजी करने का मौका मिला।

आगे क्या

दिल्ली कैपिटल्स ने पिछले दो सीजन में शानदार सुधार किया है। पेपर पर दिल्ली की टीम सबसे मजबूत नजर आ रही है। हालांकि आने वाले सीजन में टीम को एक ऐसे बल्लेबाज की दरकार है, जो निचले क्रम में बढ़िया बल्लेबाजी कर सके।

स्टोइनिस को पिंच हिटर के तौर और अच्छे से टीम इस्तेमाल कर सकती है। जबकि हेटमायर को 5वें नंबर पर बल्लेबाजी का मौका देना सही रहेगा। टीम की गेंदबाजी सेटल है, जिसमें ज्यादा बदलाव की जरूरत नहीं है।

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।