close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

आईपीएल 2021, टीम प्रिव्यू – जानें कितनी तैयार है कोलकाता नाइट राइडर्स

2 बार इंडियन प्रीमियर लीग के खिताब को अपने नाम पर चुकी कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम की नजरें 14वें सीजन में तीसरी बार खिताब को अपने नाम पर करने को होगी। साल 2012 में केकेआर ने अपना पहला खिताब जीता था और इसके 2 साल बाद टीम ने दूसरी बार इस खिताब को अपने नाम किया।

पिछले 3 सीजन में कोलकाता नाईट राइडर्स ने अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन टीम अहम मौकों पर मैच गंवाने की वजह से खिताब जीतने से दूर रह गई। साल 2018 के सीजन में टीम को दूसरे क्वालीफायर में सनराइजर्स हैदराबाद के हाथों का हार का सामना करना पड़ा था। इसके अलावा पिछले 2 सीजन में टीम प्लेऑफ के लिए भी क्वालीफाई नहीं कर सकी। जिसके चलते 14वें सीजन से पहले टीम से जहां कुछ खिलाड़ियों को रिलीज कर दिया गया वहीं कुछ पुराने खिलाड़ियों की एकबार फिर से टीम में वापसी देखने को मिली।

विदेशी खिलाड़ी सबसे बड़ी मजबूती

14वें सीजन में कोलकाता नाइट राइडर्स को टीम को लेकर यह कहना ठीक होगा टीम के पास सबसे शानदार विदेशी खिलाड़ी मौजूद हैं। आंद्रे रसल और सुनील नारायण जहां टीम के लिए सबसे बड़े गेम चेंजर के तौर पर मौजूद हैं। वहीं कप्तान ऑयन मोर्गन भी पूरे सीजन कप्तानी के लिए तैयार हैं। इसके अलावा पिछले सीजन केकेआर का हिस्सा बनने वाले पैट कमिंस भी इस सीजन अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करेंगे।

लॉकी फर्ग्युसन ने भी पिछले सीजन मिले कुछ मौकों पर अपने प्रदर्शन से प्रभावित किया था। वहीं बांग्लादेश के दिग्गज खिलाड़ी शाकिब अल हसन की टीम में फिर से वापसी निचले क्रम में जहां बल्लेबाजी को लेकर एक अलग मजबूती देखने को मिलेगी वहीं गेंदबाजी में टीम के पास अब बेहतर विकल्प मौजूद है।

दिनेश कार्तिक का विकल्प ना होना पड़ सकता भारी

पिछले सीजन में कोलकाता नाइट राइडर्स की तरफ से यदि दिनेश कार्तिक और आंद्रे रसल अंतिम ओवरों में तेजी से रन बनाने में असफल रहे तो टीम के लिए मैच को सही तरह से खत्म करने में काफी दिक्कत में देखा गया। हालांकि दिनेश कार्तिक के अंतिम एकादश में होने से टीम का मध्यक्रम बेहद मजबूत दिखाई देता है, लेकिन कार्तिक की जगह पर टीम के पास कोई बेहतर विकल्प नहीं मौजूद है।

टिम सेफर्ट एक विकल्प बन सकते हैं, लेकिन वह एक ओपनिंग बल्लेबाज है और केकेआर को उन्हें शामिल करने पर करुण नायर या गुरकीरत सिंह मान को जिम्मेदारी सौंपनी होगी। जिसके चलते यदि दिनेश कार्तिक किसी मैच में बाहर बैठते हैं, तो उसका असर टीम के संतुलन पर साफ तौर पर देखने को मिल सकता है।

स्पिन गेंदबाजों को लेकर कई समस्याएं

कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए इस सीजन अपने स्पिन विभाग को लेकर विशेष सतर्क रहने की जरूरत है। जहां सुनील नरेन के एक्शन को लेकर कई बार सवाल खड़े होने से उनके नए गेंदबाजी एक्शन से वह उतने प्रभावी साबित नहीं हुए हैं।

वहीं इस सीजन पहली बार टीम के साथ जुड़े हरभजन सिंह ने पिछले काफी समय से प्रोफेशनल क्रिकेट भी नहीं खेला है। पवन नेगी भी सयैद मुश्ताक अली ट्रॉफी 2021 में दिल्ली की तरफ से खेलते हुए एक भी विकेट हासिल नहीं कर सके थे। जबकि एक समय टीम की सबसे बड़ी मजबूती माने जाने वाले कुलदीप यादव अब बिल्कुल भी लंबे समय से लिमिटेड ओवर्स क्रिकेट में प्रभावशाली साबित नहीं हो रहे हैं।

कोलकाता नाइट राइडर्स की बेस्ट प्लेइंग 11

शुभमन गिल, राहुल त्रिपाठी, इयोन मोर्गन (कप्तान), नीतीश राणा, शाकिब अल हसन, आंद्रे रसेल, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), सुनील नरेन, कमलेश नागरकोटी, पैट कमिंस, प्रसिद्ध कृष्णा।

Leave a Response