close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

आईपीएल 2021, टीम प्रिव्यू – जानें सनराइजर्स हैदराबाद में कितना है दम

सनराइजर्स हैदराबाद की टीम को लेकर बात की जाए तो अभी तक इस टीम ने अपने प्रदर्शन से सभी को प्रभावित किया। टीम ने साल 2016 में जहां आईपीएल के खिताब को पहली बार अपने नाम पर किया था, तो वहीं इस सीजन के बाद से वह हर बार टॉप 4 में अपनी जगह बनाने में कामयाब रहे लेकिन खिताब को दूसरी बार जीतने में टीम असफल ही रही।

संयुक्त अरब अमीरात में खेले गए पिछले आईपीएल सीजन में टीम की शुरूआत थोड़ा धीमी रही थी, लेकिन उसके बाद अंत में टीम ने तीसरे स्थान पर रहते हुए सीजन का अंत किया था। रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर को जहां टीम ने प्लेऑफ में मात दी तो वहीं एलिमिनेटर मैच में सनराइजर्स हैदराबाद को दिल्ली कैपिटल्स से हार का सामना करना पड़ा था।

14वें सीजन से पहले हुई खिलाड़ियों के नीलामी प्रक्रिया में इस बार सबसे कम दिलचस्पी सनराईजर्स हैदराबाद की टीम ने दिखाई और उन्होंने अपने पुराने खिलाड़ियों पर अधिक भरोसा जताया इसके अलावा टीम के साथ नए खिलाड़ी के तौर पर अफगानिस्तान के मुजीब उर रहमान भी होंगे। जिसके बाद टीम की इस सीजन मजबूती और कमजोरियों पर एक नजर डालते हैं।

ऊपरी क्रम बेहद मजबूत

यदि सभी 8 टीमों के ओपनिंग बल्लेबाजों पर एक नजर डाली जाए तो उसमें सनराइजर्स हैदराबाद की टीम बेहद मजबूत दिखाई देती है। जिसके सबसे बड़ी वजह कप्तान डेविड वॉर्नर के साथ जॉनी बेयरस्टो का शुरूआत करते दिखाई देते हैं। दोनों ही बल्लेबाजों को टी-20 क्रिकेट में विशेषज्ञ के तौर पर पहचाना जाता है और अपने दिन पर यह अकेले ही मैच खत्म कर देते हैं।

हालांकि पिछले सीजन में वॉर्नर के साथ पारी की शुरूआत के लिए ऋद्धिमान साहा को भी आजमाया गया था, जिन्होंने भी अपने खेल से सभी को हैरानी में डाल दिया जिसके चलते इस बार टीम के पास 2 विकल्प मौजूद होंगे। वहीं इसके बाद तीसरे नंबर पर टीम के केन विलियमसन के तौर पर एक ऐसा खिलाड़ी मौजूद हो जो अकेले एक छोर से पूरी टीम को संभाल सकते हैं। विलियमसन और मनीष पांडे ने पिछले सीजन टीम के लिए कई अच्छी पारियां खेली थी।

मध्यक्रम को निभानी होगी जिम्मेदारी

यदि सनराइजर्स हैदराबाद टीम के मध्यक्रम को लेकर बात की जाए तो विलियमसन और मनीष पांडे के अलावा टीम के पास ऐसा कोई बल्लेबाज नहीं जो निचले क्रम में तेजी के साथ रन बनाते हुए टीम के लिए मैच विनिंग प्रदर्शन कर सके। पिछले सीजन अभिषेक शर्मा और प्रियम गर्ग भी मौका मिलने पर अधिक प्रभावित नहीं कर सके थे।

जिसके चलते सनराइजर्स हैदराबाद की टीम को अपने ऊपरी क्रम के 3 बल्लेबाजों पर अधिक निर्भर रहना पड़ता है। हालांकि इस सीजन टीम के केदार जाधव के तौर पर मध्यक्रम में एक अनुभवी खिलाड़ी मौजूद है, लेकिन वह अभी तक किसी भी आईपीएल सीजन में 300 से ज्यादा रन नहीं बना सके हैं।

फिटनेस पर रखना होगा विशेष ध्यान

इस सीजन सनराइजर्स हैदराबाद की टीम को अपने खिलाड़ियों की फिटनेस को लेकर बेहद सतर्क रहने की जरूरत है। पिछले सीजन में टीम के कई खिलाड़ी चोट के चलते पूरे सीजन से बाहर हो गए थे। जिसमें सबसे बड़ा नाम भुवनेश्वर कुमार का था और इसका असर टीम के गेंदबाजी आक्रमण पर साफ तौर पर देखने को मिला था।

पिछले कुछ साल भुवनेश्वर कुमार के लिए फिटनेस के लिहास से अच्छे नहीं बीते हैं, वहीं ऑलराउंडर विजय शंकर भी कई बार चोटिल होने की समस्या से जूझते दिखाई दिए हैं। पिछला सीजन में सनराइजर्स को खिताब से दूर रखने में चोटिल खिलाड़ियों की समस्या ने सबसे ज्यादा भूमिका निभाई थी।

सनराइजर्स हैदराबाद की बेस्ट प्लेइंग 11

डेविड वॉर्नर, केन विलियमसन, मनीष पांडे, प्रियम गर्ग, अब्दुल समद, जॉनी बेयरस्टो, ऋद्धिमान साहा (विकेटकीपर), भुवनेश्वर कुमार, राशिद खान, संदीप शर्मा, टी. नटराजन।

Leave a Response