close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

जानें टेस्ट क्रिकेट में इंग्लैंड के लिए क्यों संकटमोचक हैं कप्तान जो रूट

इंग्लैंड टेस्ट टीम की कप्तानी करना किसी भी खिलाड़ी के लिए कभी आसान काम नहीं रहा है। टेस्ट क्रिकेट में जहां टीम को लगातार अपनी साख को बनाए रखने की सबसे बड़ी जिम्मेदारी होती है, तो वहीं इंग्लैंड में टेस्ट फॉर्मेट को काफी पसंद भी किया जाता है। दूसरे देशों के मुकाबले आपको इंग्लैंड में खेले जाने वाले टेस्ट मैचों के पांचों दिन स्टेडियम में दर्शकों की मौजूदगी साफ तौर पर देखने को मिलती है।

इसी कारण इंग्लैंड टेस्ट टीम की कप्तानी का जिम्मा जिस भी खिलाड़ी को सौंपा जाता है, उसे पहले खुद को इस फॉर्मेट में साबित करना होता है। इस समय यह जिम्मेदारी जो रूट के कंधों पर है जिनके लिए भारत के खिलाफ सीरीज एक तरह से बिना प्रमुख खिलाड़ियों के सबसे बड़ी परीक्षा बन गई है।

यॉर्कशायर से खेलने वाले इंग्लैंड टेस्ट टीम के मौजूदा कप्तान जो रूट को पहली बार साल 2010 के अंडर-19 वर्ल्ड कप के दौरान पूरे क्रिकेट जगत ने देखा था। इसके बाद इंग्लैंड के साल 2012 के भारत दौरे पर रूट को पहली बार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखने का मौका मिला जिसमें उन्होंने नागपुर की टर्निंग पिच पर 73 रनों की पारी खेली। इस पारी की बदौलत इंग्लैंड की टीम मैच को ड्रॉ कराने में कामयाब हो सकी थी।

टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने के बाद जो रूट ने अपनी टीम के लिए सबसे ज्यादा मैच खेले हैं। जहां एक तरफ इंग्लैंड के कई दिग्गज खिलाड़ी लगातार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह रहे थे, वहीं दूसरी तरफ जो रूट खुद को टेस्ट क्रिकेट में प्रमुख खिलाड़ी के तौर पर स्थापित करते जा रहे थे।

इंग्लैंड के लिए दूसरे सबसे ज्यादा टेस्ट शतक बनाने वाले खिलाड़ी बने

जो रूट के प्रदर्शन को देखा जाए तो वह लगातार अपने बल्ले से कमाल करते हुए दिखाई दे रहे हैं। वह मौजूदा समय में इंग्लैंड टीम के लिए टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले एलिस्टर कुक के बाद दूसरे नंबर पर हैं। रूट के नाम इस समय 8900 से ज्यादा रन 49.09 की औसत से दर्ज हैं और वह लगातार इसमें काफी तेजी के साथ इजाफा करते हुए दिखाई दे रहे हैं।

रूट ने टीम के लिए ऐसी परिस्थिति में रन बनाए हैं, जब सभी को लग रहा था कि इंग्लैंड के लिए इस मैच में वापस आना काफी मुश्किल है। इसका सबसे हालिया उदाहरण भारत के खिलाफ 5 मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मैच है, जहां रूट ने पहली पारी में अर्धशतक और दूसरी पारी में शतक लगाते हुए टीम की बल्लेबाजी की कमान खुद ही संभाल ली थी।

इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान के तौर पर रन बनाने के मामले में दूसरे नंबर पर

जो रूट इस समय इंग्लैंड टीम के लिए टेस्ट क्रिकेट में बतौर कप्तान सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में एलिस्टर कुक के बाद दूसरे नंबर पर हैं। रूट के नाम जहां टेस्ट कप्तान के तौर पर 4300 से अधिक रन दर्ज हैं, तो वहीं वह जल्द ही कुक के 4844 रनों को भी पीछे छोड़ देंगे, इसकी सभी को उम्मीद है। इसके अलावा रूट साल 2018 के बाद से टेस्ट क्रिकेट में बाकी दिग्गज खिलाड़ियों को मुकाबले सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में पहले स्थान पर हैं।

Leave a Response