close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

कपिल देव की तरह नटराज शॉट खेलते हुए नजर आए रणवीर सिंह

सोशल मीडिया पर अभिनेता रणवीर सिंह ने हाल ही में एक तस्वीर पोस्ट की, जिसमें उनके हाथ में बल्ला है और उनका अंदाज कपिल देव के नटराज शॉट खेलने जैसा है।

सन् 1983 विश्वकप में कमजोर समझी जाने वाली जिम्बॉब्वे से मुकाबला भारतीय टीम से था। ये मुकाबला केंट में नेविल ग्राउंड पर खेला जाना था, भारत के नौ रन पर चार बल्लेबाज सुनील गावस्कर, के श्रीकांत, मोहिंदर अमरनाथ और संदीप पाटिल आउट होकर पवेलियन जा चुके थे। मैदान पर गार्ड लेने के लिए 24 वर्षीय कपिल देव तैयार थे, वह टीम के कप्तान भी थे। भारत का पांचवा विकेट 17 रन के स्कोर पर यशपाल शर्मा के रूप में गिरा था।

सुनील गावस्कर कुछ ऐसे याद करते हैं

आठ जून को हुए इस मुकाबले का परिणाम बेहद महत्वपूर्ण था, जिसे हारते ही टीम इंडिया विश्वकप से बाहर होने वाली थी। लेकिन कपिल देव अपने करियर की यादगार पारी खेली, जिसके बारे में पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर कहते हैं। मैंने बतौर खिलाड़ी व कॉमेंटटर आज तक कपिल देव की 175 रन सरीखी पारी कभी नहीं देखी। उस पारी ने भारतीय क्रिकेट को नए कालचक्र में प्रवेश दिलाया था।

भारत ने जीता विश्वकप और पत्रकार को खाना पड़ गया अपना लेख

मैच का टीवी प्रसारण नहीं हुआ था

आपको बता दें कि भारत व जिम्बॉब्वे के बीच हुए उस मुकाबले का टीवी पर प्रसारण नहीं हुआ था। क्योंकि प्रसारणकर्ताओं ने उसी दिन ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के बीच हुए मुकाबले में कैमरा लगाया हुआ था। इसके अलावा बीबीसी की रेडियो कॉमेंट्री भी नहीं हुई थी, क्योंकि बीबीसी के कर्मचारी हड़ताल पर थे।

रणवीर सिंह निभा रहे हैं कपिल की भूमिका

हालांकि उस पल को जिंदा तो नहीं लेकिन सेल्यूलॉयड पर उतारने में बॉलीवुड के निर्देशक कबीर खान लगे हुए हैं। फिल्म में कपिल देव की भूमिका में रणवीर सिंह हैं, जिन्होंने हाल ही में सोशल मीडिया पर नटराज शॉट खेलते हुए तस्वीर पोस्ट की है। रणवीर सिंह का लुक पूरी तरह से कपिल देव जैसा हूबहू है, उन्होंने इससे पहले गेंदबाजी पोज वाली तस्वीर भी पोस्ट की थी।

रणवीर सिंह कपिल देव

रोजर बिन्नी के साथ कपिल की साझेदारी

कपिल देव और रोजर बिन्नी ने मिलकर छठे विकेट के लिए 60 रन की साझेदारी निभाई, लेकिन एक रन जुड़े ही थे कि रवि शास्त्री भी आउट होकर पवेलियन लौट गए। लेकिन कपिल देव अपनी बल्लेबाजी करते जा रहे थे और 26वें ओवर तक उन्होंने अकेले 50 रन बना दिये। उसके बाद उन्होंने गियर बदला और अगले 10 ओवर में और 50 रन जोड़े।

जब लोगों ने समझा एक कमजोर टीम और भारत ने रच दिया इतिहास

कपिल को मिला किरमानी का साथ

मैच में कपिल को पहले मदन लाल का साथ मिला, लेकिन सबसे बड़ी 126 रन की साझेदारी उनके और विकेटकीपर बल्लेबाज सैय्यद किरमानी के बीच हुई। हालांकि 126 रनों में से करिमानी ने सिर्फ 24 रन बनाए थे, लेकिन वह आउट नहीं हुए थे। कपिल देव ने 175 रन बनाकर इतिहास रचा और इस दौरान उन्होंने नटराज शॉट से दर्शकों का मन खूब मोहा।

उस जमाने में कपिल का दिखा था टी-20 अंदाज

कपिल देव ने इस मैच में आखिरी 75 रन मात्र 38 गेंदों में बनाए थे, उस दौर में ये आम बात नहीं थी। यानी कपिल देव ने दो दशक पहले ही टी-20 अंदाज में बल्लेबाजी करके उस मैच में भारत की स्थिति को मजबूत किया था, इस दौरान उन्होंने छह छक्के लगाए थे।

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।