close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

वनडे क्रिकेट में खेली गईं 21वीं सदी की 3 धीमी शतकीय पारियों के बारे में जानें

समय के साथ क्रिकेट के खेल में काफी बदलाव देखने को मिला है, जिसमें यदि 21वीं सदी को लेकर बात की जाए तो जहां टी-20 प्रारुप को सभी फैंस ने देखा तो वहीं टेस्ट क्रिकेट में भी एक बड़ा बदलाव दिन-रात के मैच के तौर पर देखने को मिला है। जबकि वनडे क्रिकेट में भी समय-समय पर सभी को कुछ बदलाव देखने को मिले हैं। जिससे बल्लेबाजों के रन बनाने की गति पर भी एक अलग ही बदलाव देखने को मिला है।

21वीं सदी से पहले जहां किसी भी बल्लेबाज के लिए शतक लगाना एक बड़ी बात होती थी, तो वहीं अब यदि वह तेजी के साथ शतकीय पारी खेलता है, तो उसकी कोई उपयोगिता समझी जाती है। हालांकि 21वीं सदी में भी फैंस ने कुछ ऐसी पारियां देखीं हैं, जहां पर बल्लेबाज ने शतक पूरा करने के लिए उम्मीद से अधिक गेंदों का सामना किया है। जिसके बाद हम आपको ऐसे टॉप-3 शतकीय पारियों के बारे में बताने जा रहे हैं।

1 – स्कॉट स्टायरिस (बनाम श्रीलंका, साल 2007, 152 गेंदे)

वेस्टइंडीज में साल 2007 में खेले गए आईसीसी वनडे वर्ल्डकप में लीग के 39वें मैच में न्यूजीलैंड और श्रीलंका टीम का आमना-सामना सेंट जॉर्ज के मैदान पर था। इस मैच में न्यूजीलैंड की टीम पहले बल्लेबाजी कर रही थी और उसने 4 के स्कोर पर ही अपने 2 विकेट गंवा दिए थे। इसके बाद बल्लेबाजी के लिए उतरे स्कॉट स्टायरिस ने अपनी टीम के लिए 157 गेंदों में 111 रनों की पारी खेली। जिसके चलते कीवी टीम 50 ओवरों में 7 विकेट के नुकसान पर 219 रन बना सकी। स्टायरिस ने इस मैच में अपना शतक 152 गेंदों में पूरा किया। वहीं न्यूजीलैंड की टीम को बाद में श्रीलंका के हाथों 6 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था।

2 – टॉम कूपर (बनाम अफगानिस्तान, साल 2010, 151 गेंदे)

साल 2007 में नीदरलैंड्स और अफगानिस्तान की टीम का मुकाबला आईसीसी वर्ल्ड लीग डिवीजन वन मैच में आमना-सामना वूरबर्ग के मैदान पर था। इस मैच में नीदरलैंड्स की टीम पहले बल्लेबाजी कर रही थी, जिसमें टीम के लिए नंबर 3 पर बैटिंग के लिए आए टॉम कूपर ने 65.16 के स्ट्राइक रेट के साथ 155 गेंदों में 101 रनों की पारी खेली थी। कूपर ने जहां मैच में अपना शतक पूरा करने के लिए 151 गेंदों का सामना किया तो वहीं उनकी टीम 50 ओवरों की समाप्ति पर 8 विकेट के नुकसान पर सिर्फ 202 रन ही बना सकी थी। जिसके चलते टीम को बाद में अफगानिस्तान के हाथों 6 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था।

3 – डेविड हैंप (बनाम केन्या, साल 2009, 150 गेंदे)

साउथ अफ्रीका के पोचेफस्ट्रूम में साल 2009 में बरमूडा और केन्या के बीच खेले गए वर्ल्डकप क्वालीफायर मुकाबले में बरमूडा की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों की समाप्ति पर 259 रन बनाए थे। टीम की तरफ से पारी की शुरूआत करने उतरे डेविड हैंप ने 152 गेंदों में 102 रनों की पारी खेली थी। जिसमें उन्होंने अपना शतक 150 गेंदों में पूरा किया था। वहीं बाद में बरमूडा को इस मैच में केन्या के हाथों 7 विकेट से हार का भी सामना करना पड़ा था।

Leave a Response