close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

जानिए क्या है तेंदुलकर मिडिलसेक्स ग्लोबल अकादमी?

क्रिकेटरों की नई युवा पीढ़ी तैयार करने के लिए क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने एक बड़ा कदम उठाया है। दुनिया को बेहतरीन क्रिकेटर देने के लिए तेंदुलकर और मिडिलसेक्स क्रिकेट ने एक करार के तहत क्रिकेट अकादमी खोली है। जिसमें 9 से 14 साल के लड़के-लड़कियों को क्रिकेट सिखाया जाएगा। इस क्रिकेट अकादमी का नाम ‘तेंदुलकर मिडिलसेक्स ग्लोबल अकादमी’ (TMGA) है।

क्या है TMGA?

TMGA एसआरटी स्पोर्ट्स मैनेजमेंट लिमिटेड और मिडिलसेक्स क्रिकेट की संयुक्त पहल है। सचिन ने इसे जुलाई 2018 में लॉन्च किया है। इसकी शुरुआत नार्थवुड के मर्चेन्ट टेलर्स स्कूल में 6 से 9 अगस्त तक पहले क्रिकेट शिविर लगने के साथ हुई।

मिडिलसेक्स क्रिकेट अकादमी से निकले हैं ये खिलाड़ी

मिडिलसेक्स क्रिकेट ने एंड्रयू स्ट्रास, माइक गैटिंग, डेनिस कॉम्पटन, जान एमब्यूरे और माइक ब्रियर्ली जैसे बेहतरीन क्रिकेटर दुनिया को दिए हैं।

छात्रवृत्ति की मिलेगी सुविधा

TMGA में छात्रवृति की भी व्यवस्था है, जिसके तहत वंचित और प्रतिभावान बच्चों को शत प्रतिशत छात्रवृत्ति मुहैया कराई जाएगी।

अच्छे क्रिकेटर के साथ अच्छा नागरिक बनाना

TMGA का लक्ष्य जहां एक तरफ आने वाले समय में अच्छे क्रिकेटर दुनिया को देना है, तो वहीं दूसरी तरफ एक संभ्रांत नागरिक भी बनाना इस अकादमी का लक्ष्य है। अकादमी के बारे में खुद सचिन ने भी कहा कि ‘मैं और मिडिलसेक्स छात्रों को पूर्ण रूप से विकसित करने का काम करेंगे’।

‘ग्राउंड के बाहर भी सीखना होता है’

सचिन तेंदुलकर ने अपने अनुभव के आधार पर कहा कि ‘उन्होंने कक्षा या बोर्डरूम में नहीं, बल्कि टीम के हिस्से के रूप में बहुत कुछ सीखा है। टीम में खेलने के साथ ही अच्छे और बुरे समय दोनों ही आते हैं, ऐसे में खुद को कैसे मजबूत करना होता है, ये सीखना बहुत जरूरी है। साथ ही क्रिकेट के साथ आपको क्रिकेट के बाहर भी एक बेहतर इंसान बनना होता है। क्योंकि जब आप क्रिकेट नहीं खेल रहे होते हैं, तब भी आपको लोग उतना ही प्यार करते हैं।‘

Leave a Response