close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

जानिए इंग्लैंड टीम के स्टार खिलाड़ी डेविड मलान के बारे में

मौजूदा समय में वर्ल्ड क्रिकेट में आईसीसी टी-20 रैंकिंग में विश्व के नंबर 1 बल्लेबाज डेविड मलान के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने का सफर आसान नहीं था। डेविड जॉनसन मलान का जन्म 3 सितम्बर 1987 को लंदन के रोहेम्पटन में हुआ था। मलान के पिता का नाम भी डेविड है और वह एक दाएं हाथ के तेज गेंदबाज और बल्लेबाज थे। उन्होंने इंग्लैंड और साउथ अफ्रीका में घरेलू क्रिकेट में अपना दम दिखाया है। वहीं मलान बाएं हाथ के बल्लेबाज होने के साथ एक पार्ट टाइम लेग स्पिनर की भी भूमिका निभाते हैं।

शुरूआती दौर

डेविड मलान साल 2006 में MCC यंग क्रिकेटर्स टीम का हिस्सा रह चुके हैं। इसके बाद वह मिडिलसेक्स के साथ जुड़ गए। जिसके बाद मलान ने अपना पहला टी-20 मैच साल 2006 में सरे के खिलाफ खेला। साल 2007 में मलान सेकेंड इलेवन चैंपियनशिप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी थे। उन्होंने 51 के औसत के साथ 969 रन बनाए थे। जिसके चलते साल 2008 में मलान ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में डेब्यू करते हुए मिडिलसेक्स के लिए 132 रनों की नाबाद पारी खेली थी। मलान के नाम पर वर्ल्ड क्रिकेट में नंबर 6 पर टी-20 में बल्लेबाजी करते हुए निजी स्कोर बनाने का रिकॉर्ड दर्ज है। जिसमें उन्होंने 103 रनों की पारी खेली थी।

डेविड मलान

वहीं मिडिलसेक्स के लिए काउंटी क्रिकेट खेलने के अलावा मलान ने पाकिस्तान सुपर लीग में पेशावर जालिमी टीम के लिए साल 2015 के सीजन में खेला। इसके अलावा मलान ऑस्ट्रेलियाई टी-20 लीग बिग बैश में भी अपने बल्ले का दम दिखा चुके हैं। वहीं आईपीएल के 14वें सीजन में मलान पंजाब किंग्स टीम का हिस्सा होंगे।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण

मलान को उनके शानदार प्रदर्शन का इनाम साल 2017 में मिला जिसमें उन्होंने इंग्लैंड के लिए टी-20 क्रिकेट में पदार्पण करते हुए अपना पहला मैच साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेला। इस मैच में मलान ने 78 रनों की शानदार पारी खेली। जिसके बाद जहां इंग्लैंड ने जीत दर्ज की तो वहीं मलान को प्लेयर ऑफ दी मैच का खिताब भी दिया गया।

टी-20 क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन के चलते मलान को साल 2017 में अफ्रीका के ही खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने का मौका मिला। जिसमें उन्हें नंबर पर बल्लेबाजी करने का मौका मिला लेकिन मलान सिर्फ 1 रन बनाकर कगीसो रबाडा का शिकार बन गए।

खराब दौर

टी-20 क्रिकेट में मलान जितना खतरनाक दिखाई देते हैं, वहीं टेस्ट क्रिकेट में उन्हें संघर्ष करते हुए देखा गया। जिसमें साउथ अफ्रीका के खिलाफ मलान की पहली टेस्ट सीरीज अच्छी नहीं रही। हालांकि उसके बाद मलान को वेस्टइंडीज के खिलाफ खेलने का मौका मिला और उन्होंने अपने टेस्ट कैरियर का पहला अर्धशतक लगाकर खुद खुद को टेस्ट में भी बेहतर बल्लेबाज साबित करने का मौका नहीं गवायां।

दिखा मलान का टेस्ट में दम

साल 2017-18 में हुई एशेज सीरीज में भले ही ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 4-0 से जीत हासिल की थी। लेकिन इंग्लैंड के लिए उस सीरीज में सबसे ज्यादा रन डेविड मलान के बल्ले से निकले। मलान जहां अपने टेस्ट करियर का पहला शतक लगाया वहीं उन्होंने इस सीरीज में 9 पारियों में बल्लेबाजी करते हुए 42.70 के औसत से 383 रन बनाए थे, जिसमें 1 शतकीय पारी के साथ 3 अर्धशतक भी शामिल हैं।

डेविड मलान

अभी तक का करियर

डेविड मलान के अभी तक के अंतरराष्ट्रीय करियर को लेकर बात की जाए तो उन्होंने 15 टेस्ट मैचों में 27.85 के औसत से कुल 724 रन बना चुके है। जिसमें उन्होंने 1 शतक और 6 अर्धशतकीय पारियां खेली हैं। वहीं मलान ने 22 टी-20 मैचों में 51.17 के औसत से 921 रन बनाए है। वहीं मलान ने अंतरराष्ट्रीय टी-20 क्रिकेट में 9 अर्धशतक के साथ 1 शतक भी लगाया है। इसके अलावा मलान को अभी तक 1 ही वनडे मैच खेलने का मौका मिला जिसमें उन्होंने 24 रन बनाए।

ऑफ द फील्ड

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Dawid Malan (@djmalan29)

Leave a Response