close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहने वाले महमुदुल्लाह के करियर की 3 खास पारियां

बांग्लादेश टेस्ट टीम में लंबे समय के बाद वापसी करने वाले 35 वर्षीय बल्लेबाजी ऑलराउंडर खिलाड़ी महमुदुल्लाह ने जिम्बाब्वे के खिलाफ एकमात्र मैच की टेस्ट सीरीज में संन्यास का ऐलान करते हुए सभी को अचम्भे में डाल दिया। दरअसल इस मैच में महमुदुल्लाह ने 150 रनों की शानदार पारी खेलते हुए टीम की जीत में बेहद महत्वपूर्ण योगदान दिया।

महमुदुल्लाह के टेस्ट करियर को लेकर बात की जाए तो उन्होंने 50 मैचों में बांग्लादेश के लिए खेलते हुए 33.11 के औसत से 2914 रन बनाए हैं, जिसमें 5 शतक और 16 अर्धशतकीय पारियां शामिल हैं। वहीं महमुदुल्लाह की गेंदबाजी को लेकर बात की जाए तो 45.53 के औसत से उन्होंने 43 विकेट हासिल किए हैं। अब इस शानदार खिलाड़ी के टेस्ट संन्यास के बाद हम आपको उनके करियर की 3 सबसे शानदार पारियों के बारे में बताने जा रहे हैं।

3 – बनाम न्यूजीलैंड (साल 2010 सेडन पार्क, 115 रन)

बांग्लांदेश की टीम साल 2009-10 में न्यूजीलैंड के दौरे पर थी, जहां दोनों ही टीमों के बीच सीरीज का पहला मैच हेमिल्टन के सेडन पार्क में खेला गया था। इस मैच में कीवी टीम ने पहली पारी में बल्लेबाजी करते हुए 553 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया था। बांग्लादेश की टीम के बल्लेबाजों पर बेहद दबाव के कारण टीम पहली पारी में 196 के स्कोर तक 6 विकेट गंवा चुकी थी।

यहां से महमुदुल्लाह ने शाकिब के साथ पारी को संभालते हुए 115 रनों की शानदार पारी खेली और टीम पर से फॉलोऑन के खतरे को भी खत्म किया। हालांकि बाद में बांग्लादेश की टीम को इस मैच में 121 रनों से हार का सामना करना पड़ा, लेकिन महमुदुल्लाह ने जिस तरह से टीम के लिए दबाव के समय में शानदार पारी खेली उसकी सभी ने तारीफ की थी।

2 – बनाम न्यूजीलैंड (साल 2019, सेडन पार्क, 146 रन)

साल 2019 में न्यूजीलैंड के दौरे पर सीरीज खेलने पहुंची बांग्लादेश टीम के गेंदबाजों के लिए पहला टेस्ट मैच किसी बुरे सपने से कम साबित नहीं हुआ था। हेमिल्टन के सेडन पार्क में खेले गए पहले टेस्ट मैच में बांग्लादेश की टीम के पहले बल्लेबाजी करने का मौका मिला और टीम ने पहली पारी में 234 के स्कोर पर सिमट गई।

जवाब में न्यूजीलैंड टीम से कप्तान केन विलियमसन के 200 रन और ओपनिंग बल्लेबाजों की शतकीय पारी के कारण 6 विकेट के नुकसान पर 715 के स्कोर टीम ने अपनी पहली पारी को घोषित किया। बांग्लादेश टीम के बल्लेबाजों के लिए दूसरी पारी में टीम को एक पारी से हार से बचाने के लिए काफी कड़ी मेहनत करनी थी।

बांग्लादेश टीम 126 के स्कोर तक अपने 4 विकेट गंवा चुकी थी, यहां से महमुदुल्लाह ने सौम्य सरकार के साथ मिलकर 5वें विकेट के लिए 235 रनों की साझेदारी करते हुए टीम को मैच में मजबूत करने की कोशिश की। महमुदुल्लाह मैच में 146 रनों की पारी खेलने के बाद पवेलियन लौटे थे। वहीं बांग्लादेश को मैच में एक पारी और 52 रनों से हार का सामना करना पड़ा था।

1 – बनाम जिम्बाब्वे (साल 2021 हरारे, 150 रन)

फरवरी 2020 में अपना आखिरी टेस्ट मैच खेलने के बाद महमुदुल्लाह को फिर टेस्ट मैच खेलने के लिए बेहद लंबा इंतजार करना पड़ा। बांग्लादेश टीम के जिम्बाब्वे दौरे पर एकमात्र टेस्ट मैच की सीरीज में महमुदुल्लाह को खेलने का मौका मिला। इस मैच में बांग्लादेश को पहले बल्लेबाजी करने का मौका मिला लेकिन टीम ने अपने 6 विकेट 132 के स्कोर पर ही गंवा दिए थे।

यहां से महमुदुल्लाह ने सबसे पहले लिटन दास और उसके बाद तस्कीन अहमद के साथ मिलकर टीम को 468 के मजबूत स्कोर तक पहुंचाने में अहम भूमिका अदा की। महमुदुल्लाह ने जहां अपने टेस्ट करियर की आखिरी पारी में 150 रन बनाए वहीं बांग्लादेश की टीम ने भी मैच में 220 रनों की बड़ी जीत दर्ज की।

Leave a Response