close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

NZ vs ENG: दूसरा टेस्ट हुआ ड्रॉ, सीरीज न्यूजीलैंड के नाम

न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के बीच हैमिल्टन में खेला गया दूसरा और अंतिम टेस्ट बिना किसी नतीजे के खत्म हो गया। पांचवें और अंतिम दिन बारिश के कारण मुकाबले को जल्द खत्म करना पड़ा लेकिन उससे पहले कप्तान केन विलियमसन(104) और टीम के सबसे वरिष्ठ खिलाड़ी रोस टेलर(105) ने नाबाद शतकीय पारी खेल टीम को शुरुआती झटकों से उबार लिया। मेजबान टीम ने पहले मुकाबले को पारी और 65 रनों से जीता था और इस तरह दो मैचों की सीरीज को उसने 1-0 से अपने नाम किया।

पहली पारी में चमके लैथम

टॉस हारने के बाद न्यूजीलैंड की टीम पहले बल्लेबाज करने उतरी। इंग्लैंड के गेंदबाजों ने पहले घंटे में ही दबाव बनाने का काम शुरू कर दिया लेकिन सलामी बल्लेबाज टॉम लैथम मैदान पर टिक गए। उन्होंने 105 रनों की पारी खेली जिसके कारण टीम 375 रन तक पहुंच सकी। उनके अलावा बीजे वाटलिंग ने 55 और टेलर ने 53 रनों की पारी खेली।

इंग्लैंड के लिए स्टुअर्ट ब्रॉड ने सबसे अधिक 4 विकेट लिए जबकि क्रिस वोक्स को तीन सफलताएं मिलीं।

रूट का जवाबी हमला

पिछले कुछ समय से अपने फॉर्म को लेकर आलोचनाओं के शिकार होने वाले इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने इस मुकाबले में 226 रनों की बेहतरीन पारी खेल न सिर्फ आलोचकों को जवाब दिया बल्कि अपना फॉर्म भी वापस हासिल किया। उनकी पारी इस मुकाबले में सबसे अहम रही और इसलिए उन्हें मैन ऑफ मैच चुना गया। रूट के अलावा रोरी बर्न्स के बल्ले से 101 रनों की पारी आई जिसकी बदौलत मेहमान टीम ने 101 रनों महत्वपूर्ण बढ़त हासिल कर ली।

मेजबान टीम के लिए नील वैगनर ने एक बार फिर बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए पांच विकेट अपने नाम किए उनके अलावा टिम साउदी को दो सफलता मिली।

बारिश से पहले केन और टेलर ने की रनों की बारिश

मुकाबला पहले ही ड्रॉ की ओर जाता दिख रहा था लेकिन 28 रन पर दो विकेट निकालकर इंग्लैंड के गेंदबाजों ने मैच में रोमांच भरने की पूरी कोशिश की। केन और टेलर ने तीसरे विकेट के लिए 213 रनों की अटूट साझेदारी कर इंग्लैंड की उम्मीदों को बड़ा झटका दे दिया।

दो मैचों की टेस्ट सीरीज में 13 विकेट लेने वाले न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज वैगनर को मैच ऑफ द सीरीज चुना गया।

Leave a Response

Shashank

The author Shashank

2011 विश्व कप के साथ शशांक ने अपनी खेल पत्रकारिता की शुरआत की। क्रिकेट के मैदान से लेकर हर छोटी बड़ी खबरों पर इनकी नज़र रहती है। खेल की बारीकियों से लेकर रिकॉर्ड बुक तक, हर उस पहलू पर नजर होती है जिसे आप पढ़ना और जानना चाहते हैं। क्रिकेट के अलावा दूसरे खेलों में भी इनकी गहरी रूची है। कई बड़े मीडिया हाउस को अपनी सेवा दे चुके हैं।