close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

WTC Final: भारत को हराकर न्यूजीलैंड ने जीता वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का खिताब

आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के 5वें दिन का खेल जब खत्म हुआ था, तो किसी ने उम्मीद नहीं की थी, कि रिजर्व डे में इस मैच का परिणाम सभी के सामने होगा। खेल के 6वें दिन न्यूजीलैंड की टीम ने इतिहास रचते हुए आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल मुकाबले में 8 विकेट से शानदार जीत दर्ज की। 6वें दिन भारतीय टीम की दूसरी पारी को कीवी गेंदबाजों ने 170 के स्कोर पर समेट दिया, जिसके चलते कीवी टीम को सिर्फ 139 रनों का लक्ष्य मिला था। 

पहले सत्र में भारत के गिरे 3 महत्वपूर्ण विकेट 

6वें दिन के पहले सत्र का खेल जब शुरु हुआ तो भारतीय टीम को दिन का पहला सबसे बड़ा झटका कप्तान विराट कोहली के तौर पर लगा जो सिर्फ 13 के निजी स्कोर पर काइल जेमीसन का इस मैच में लगातार दूसरी बार शिकार बने। इसके बाद काइल ने पुजारा का विकेट भी जल्द ही निकालते हुए भारतीय टीम को चौथा झटका 72 के स्कोर पर दिया। हालांकि पंत और रहाणे ने सकारात्मक खेल दिखाने का प्रयास किया और टीम का स्कोर 100 के पार पहुंचा दिया, लेकिन लंच से ठीक पहले रहाणे का विकेट ट्रेंट बोल्ट ने लेते हुए भारतीय टीम की आधी पारी को समेटने का काम किया। जिसके बाद पहले सत्र का खेल खत्म होने पर भारतीय टीम का स्कोर 130 के स्कोर पर 5 विकेट था। 

दूसरे सत्र में सिमटी भारतीय पारी 

सभी फैंस को उम्मीद थी कि दूसरे सत्र में ऋषभ पंत और रवींद्र जडेजा संभलकर खेलते हुए न्यूजीलैंड की टीम को 150 से अधिक का लक्ष्य देने का काम करेंगे। लेकिन जैसे ही दूसरे सत्र का खेल शुरू हुआ तो जडेजा को नील वैगनर ने अपनी एक शानदार गेंद पर शिकार बनाते हुए भारतीय टीम को 6वां झटका दिया। इसके कुछ देर बाद पंत भी बोल्ट की गेंद पर खराब शॉट खेलते हुए 41 के निजी स्कोर पर पवेलियन लौट गए। इसके चलते भारतीय टीम की दूसरी पारी 170 के स्कोर पर सिमट गई। दूसरे सत्र का खेल खत्म होने तक कीवी टीम ने बिना किसी नुकसान के 19 रन बना लिए थे। 

विलियमसन और टेलर की साझेदारी जीत दिलाकर वापस लौटी 

दिन के आखिरी सत्र का खेल बेहद रोमांचक रहा, जिसमें भारतीय टीम की तरफ से ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने टॉम लेथम और डीवोन कॉनवे का विकेट जल्दी-जल्दी निकालते हुए न्यूजीलैंड का स्कोर 44 रन पर 2 विकेट कर दिया। लेकिन इसके बाद कीवी टीम के 2 सबसे अनुभवी बल्लेबाज कप्तान केन विलियमसन और रॉस टेलर ने तीसरे विकेट के लिए संभलकर खेलते हुए टीम को जीत तरफ अग्रसर करने का काम किया। कप्तान विलियमसन ने जहां 52 रनों की पारी खेली तो वहीं टेलर ने नाबाद 47 रनों की पारी खेली। दोनों ने न्यूजीलैंड को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का पहला खिताब दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

99 के स्कोर पर एकमात्र खिलाड़ी जिसे दिया गया फील्ड ऑब्स्ट्रक्टिंग आउट

Leave a Response