close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

NZ vs ENG: मलान के तूफान में उड़ा न्यूजीलैंड, इंग्लैंड ने दर्ज की बड़ी जीत

डेविन मलान(103) की नाबाद तूफानी शतकीय पारी की बदौलत इंग्लैंड ने चौथे टी20 मुकाबले में न्यूजीलैंड को 76 रनों के बड़े अंतर से हरा दिया। इस जीत के साथ दोनों ही टीम पांच मैचों की सीरीज में अब दो-दो से बराबर हो गई है। नेपियर में खेले गए इस मुकाबले में मलान और इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन(91) की तूफानी पारी देखने को मिली जिसकी बदलौत मेहमान टीम ने 3 विकेट पर 241 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया। टी20 इतिहास में इंग्लैंड का यह सबसे बड़ा स्कोर है।

मलान और मोर्गन का तूफान और बने कई रिकॉर्ड

सलामी बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो(8) और टॉम बैंटन(31) 8वें ओवर तक पवेलियन लौट गए थे। उस वक्त कुल स्कोर सिर्फ 58 रन था लेकिन इसके बाद मलान और मोर्गन ने मैदान पर तूफानी बल्लेबाजी का जलवा दिखाना शुरू कर दिया। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 182 रनों की साझेदारी की जो कि टी20 इतिहास की चौथी और इंग्लैंड के लिए किसी भी विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी रही।

मलान ने महज 48 गेंद में अपना शतक पूरा किया जो कि इंग्लैंड के लिए इस फॉर्मेट में सबसे तेज शतक है। इससे पहले यह रिकॉर्ड एलेक्स हेल्स के नाम था उन्होंने 60 गेंदों में यह कारनामा किया था। इतना ही नहीं मलान कीवी टीम के खिलाफ सबसे तेज शतक लगाने वाले दूसरे बल्लेबाज भी बने।

दूसरी तरफ मोर्गन ने महज 21 गेंद में अर्द्धशतक लगा कर देश के लिए सबसे तेज अर्द्धशतक लगाने का रिकॉर्ड बनाया, उन्होंने जोस बटलर के 22 गेंदों के रिकॉर्ड को तोड़ा। मोर्गन आखिरी ओवर की चौथी गेंद पर आउट हुए जिसके कारण शतक से चूक गए। उन्होंने अपनी 41 गेंदों की अपनी पारी में सात चौके और इतने ही छक्के लगाए। आउट होने से पहले मोर्गन ने मलान के साथ मिलकर अंतिम के चार ओवर में 76 रन जोड़े जो अंतरराष्ट्रीय टी20 में नया रिकॉर्ड है।

दूसरी तरफ मलान ने 51 गेंदों की अपनी पारी में 9 चौके और 6 छक्के लगाए।

पॉवर प्ले के बाद कीवी बल्लेबाजों ने तोड़े दम

विशाल स्कोर के जवाब में न्यूजीलैंड ने तेज गति से रन बनाने का काम शुरू किया। मार्टिन गप्टिल(27) और कॉलिन मुनरो(30) ने जल्द ही अर्द्धशतकीय साझेदारी पूरी कर ली। लेकिन इसके बाद पूरी टीम ढह गई। सैम करन ने विकेट का खाता खोला जिसके बाद मैट पर्किंसन ने मोर्चा संभालते हुए 47 रन देकर चार विकेट अपने नाम कर लिए।

सलामी बल्लेबाजों के अलावा कप्तान टिम साउदी(39 रन 15 गेंद) ही कुछ बड़े शॉट लगा पाए। उनके आउट होने के बाद पूरी टीम 16.5 ओवर में 165 रनों पर सिमट गई।

क्या धोनी को संन्यास ले लेना चाहिए? Live

  • हां
  • नहीं

Leave a Response

Shashank

The author Shashank

2011 विश्व कप के साथ शशांक ने अपनी खेल पत्रकारिता की शुरआत की। क्रिकेट के मैदान से लेकर हर छोटी बड़ी खबरों पर इनकी नज़र रहती है। खेल की बारीकियों से लेकर रिकॉर्ड बुक तक, हर उस पहलू पर नजर होती है जिसे आप पढ़ना और जानना चाहते हैं। क्रिकेट के अलावा दूसरे खेलों में भी इनकी गहरी रूची है। कई बड़े मीडिया हाउस को अपनी सेवा दे चुके हैं।