close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

आज के दिन – लॉर्ड्स में टेस्ट डेब्यू करते हुए सौरव गांगुली ने ठोका था शतक

भारतीय क्रिकेट के इतिहास के सबसे सफल कप्तानों में से एक रहे सौरव गांगुली ने आज ही के दिन सन् 1996 में अपने डेब्यू टेस्ट मैच में शतक ठोका था। लॉर्ड्स के मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ गांगुली ने अपने डेब्यू टेस्ट को यादगार बनाते हुए 131 रनों की पारी खेली थी। उन्होंने ये कारनामा मैच के तीसरे दिन किया था।

वहीं आपको बता दें कि सौरव गांगुली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ ब्रिसबेन में अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का आगाज कर दिया था। जहां वह दिग्गज गेंदबाजी तिकड़ी मैल्कम मार्शल, कर्टनी एंब्रोस और एंड्रू कमिंस के सामने प्रभावहीन रहे थे। उन्हें कमिंस ने 3 रनों के स्कोर पर आउट कर दिया था, जबकि भारतीय टीम 191 रन पर सिमट गई थी और मुकाबला वेस्टइंडीज ने आसानी से जीत लिया था।

लेकिन चार वर्ष के बाद सौरव गांगुली ने दोबारा भारतीय टीम में जगह बनाई और इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए उनका चयन हुआ। दौरे के पहले टेस्ट में उन्हें जगह नहीं मिली, लेकिन लॉर्ड्स टेस्ट मैच में नवजोज सिंह सिद्धू की जगह उन्हें अंतिम 11 में शामिल किया गया।

विक्रम राठौर के साथ मैदान पर बतौर सलामी बल्लेबाज के रुप में सौरव गांगुली उतरे। जहां एक छोर से विकटों का पतन हो रहा था, लेकिन उन्होंने एक तरफ खूंटा गाड़ दिया था। इस तरह वह उन्होंने अपने डेब्यू टेस्ट मैच में ही शतक ठोक दिया और लॉर्ड्स में डेब्यू मैच में शतक जड़ने वाले वह दुनिया के 10वें बल्लेबाज बन गए। उनके साथ राहुल द्रविड़ ने भी डेब्यू किया था और 95 रनों की पारी खेली थी। भारत ने इंग्लैंड के 344 रनों के जवाब में 429 रन बनाए और 85 रन की बढ़त हासिल की। उसके बाद इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी में 9 विकेट खोकर 278 रन बनाए और इस तरह मैच ड्रॉ हो गया।

सौरव गांगुली ने अपना शानदार फॉर्म जारी रखा और नॉटिंघम में भी उन्होंने 136 रन की पारी खेली। हालांकि भारतीय टीम के लिए गांगुली के ये दोनों शतक नाकाफी रहे क्योंकि सीरीज इंग्लैंड ने 1-0 से अपने नाम कर ली। लेकिन भारत को इस सीरीज में गांगुली जैसा नायाब बल्लेबाज मिला जो आगे चलकर भारत का कप्तान बना। सौरव गांगुली ने अपने टेस्ट करियर में 7212 और वनडे में 11363 रन बनाए।

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।