close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

OTD : विश्वकप 1999 में लांस क्लूजनर ने ऑलराउंड प्रदर्शन से श्रीलंका को कर दिया था हैरान

अपने जमाने के लांस क्लूजनर दुनिया के सबसे बेहतरीन ऑलराउंडर हुआ करते थे। उनके हाथ में गेंद हो या बल्ला दोनों खूब चलते थे, इसके अलावा फील्डिंग में वह दक्षिण अफ्रीकी थे ही। सन् 1999 का विश्वकप उनके करियर का सबसे शानदार दौर था। जहां श्रीलंका के खिलाफ उनका ऑलराउंड प्रदर्शन हमेशा याद रखा जाता है। लो-स्कोरिंग मुकाबले में प्रोटियाज ने भारतीय पड़ोसी देश को हरा दिया था।

श्रीलंका ने जीत टॉस

टॉस जीतकर श्रीलंका ने पहले फील्डिंग करने का फैसला किया और दक्षिण अफ्रीकी टीम को एक के बाद एक झटके दिए। हैंसी क्रोनिए की कप्तानी वाली टीम का स्कोर 5 विकेट पर 69 रन हो गया था और चीजें दक्षिण अफ्रीका के हाथ से बाहर हो रही थीं।

फिर आए क्लूजनर

लेकिन लांस क्लूजनर ने कुछ और ही सोच रखा था। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने 45 गेंदों में 52 रन की नाबाद पारी खेली, जिसकी मदद से दक्षिण अफ्रीका ने 9 विकेट खोकर 199 रन का स्कोर बनाया। क्लूजनर का साथ इस दौरान डेरिल कुलिनन ने देते हुए 82 गेंदों में 49 रनों की पारी खेली।

श्रीलंका की बल्लेबाजी भी रही फ्लॉप

जवाब में श्रीलंका की शुरुआत भी बहुत ही खराब रही और टीम का स्कोर 15 ओवर में 31 रन पर 5 विकेट हो गया। शॉन पोलाक व जैक्स कैलिस ने शानदर गेंदबाजी की और 5 में से 4 विकेट इन दोनों के खाते में गए। उसके बाद गेंदबाजी करने आए लांस क्लूजनर और गेंद से वह और घातक साबित हुए।

दाएं हाथ से गेंदबाजी करने वाले क्लूजनर ने महज 5.2 ओवर की गेंदबाजी में 21 रन देकर 3 विकेट अपने नाम किए और श्रीलंका के निचले क्रम को झकझोर दिया। इस तरह श्रीलंका की पूरी टीम 110 रन पर ऑलआउट कर दिया।

श्रीलंका की तरफ से सबसे अधिक रन रोशन महानामा ने बनाया था, उन्होंने 71 गेंदों में 36 रन की पारी खेली थी। इसके अलावा महेला जयवर्द्धने ने 22 रन की पारी खेली थी। लांस क्लूजनर को उनके ऑलराउंड प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच का अवार्ड दिया गया था। दक्षिण अफ्रीका ने मुकाबला 89 रन से जीता था।

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।