close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

विश्वकप 1999: जब सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ ने रचा इतिहास

इंग्लैंड में खेले गए सातवें वनडे विश्वकप में मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ 158 गेंदों में 183 रन की पारी खेली थी। यही नहीं उस दौर में वनडे टीम में मिसफिट माने जा रहे राहुल द्रविड़ ने अपने नाम के विपरीत यादगार 145 रन की पारी महज 129 गेंदों में खेली थी।

सबसे बड़ी साझेदारी

सन् 1999 के विश्वकप में टॉन्टन में बेहद अहम मुकाबला भारत और श्रीलंका के बीच खेला गया था। टीम इंडिया को टूर्नामेंट में बने रहने के लिए इस मैच में हर हाल में जीत दर्ज करनी थी। गांगुली-द्रविड़ ने 318 रन की साझेदारी निभाई थी, जो उस समय वनडे क्रिकेट की सबसे बड़ी साझेदारी थी।

कैसा था विकेट

अगर विकेट की बात करें तो टॉन्टन के विकेट में सामान्य उछाल था, लेकिन मैदान की बाउंड्री छोटी थी। भारत के सामने श्रीलंका की मजबूत बल्लेबाजी लाइन-अप थी, जिसे देखते हुए टीम इंडिया को बड़ा लक्ष्य रखना ही था। उस दिन श्रीलंका की गेंदबाजी शुरूआती ओवरों के बाद पटरी से उतरी नजर आई। जिसका फायदा भारतीय जोड़ी ने उठाया और विश्वकप में ऐतिहासिक साझेदारी की।

मैच का लेखा-जोखा

श्रीलंका के कप्तान अर्जुन रणतुंगा ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। उनके इस फैसले को सही साबित करते हुए, चमिंडा वास ने शानदार कटर से सदगोपन रमेश को बोल्ड कर दिया। जिसके बाद मैदान पर आए राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली के साथ मिलकर उन्होंने श्रीलंकाई गेंदबाजों की जमकर खबर ली। द्रविड़ ने टूर्नामेंट में अपना लगातार दूसरा शतक जड़ा और खास बात ये रही कि उनका स्ट्राइक रेट इस दौरान 100 के ऊपर रहा। भारतीय टीम ने विश्वकप में 373 रन का टारगेट बनाया जो टूर्नामेंट का सबसे बड़ा स्कोर साल 2007 तक बना रहा। जब भारत ने बरमुडा के खिलाफ 413 रन बनाए।

गांगुली की दादागिरी

सौरव गांगुली के लिए उनकी ये पारी हमेशा के लिए यादगार हो गई और उन्होंने अपना बेस्ट दिया। 119 गेंदों में शतक पूरा करने के बाद वह और खतरनाक हो गए और अगले 83 रन उन्होंने महज 39 गेंदों में ठोके। विश्वकप में भारत की ओर से किसी भी बल्लेबाज का ये स्कोर आज भी सर्वश्रेष्ठ है। सन् 1997-98 में मोहम्मद अजहरूद्दीन और अजय जडेजा ने जिम्बॉब्वे के खिलाफ 275 रन की साझेदारी की थी, जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किसी भी विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी थी। लेकिन गांगुली और द्रविड़ ने 318 रन की साझेदारी करके नया कीर्तिमान स्थापित कर दिया।

श्रीलंका का हाल

भारत के 373 रन के जवाब में श्रीलंका के सलामी बल्लेबाज सनथ जयसूर्या और रोमेश कालुवितरणा पांचवें ओवर तक पवेलियन लौट गए। अरविंद डी सिल्वा ने 56 और रणतुंगा ने 42 रन की पारी के अलावा कोई भी बल्लेबाज संघर्ष नहीं कर पाया। श्रीलंका की पूरी टीम 216 रन बनाकर ऑलआउट हो गई।

टेस्ट क्रिकेट की एक पारी में सबसे ज्यादा रन देने वाले गेंदबाज

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।