close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

आज के दिन ही सचिन तेंदुलकर ने लगाया था वनडे में पहला शतक

वर्ल्ड क्रिकेट में 20 सालों से अधिक समय तक अपनी बल्लेबाजी के जरिए राज करने वाले महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर का करियर सभी के लिए एक प्रेरणा है। महज 16 साल की उम्र में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने वाले सचिन तेंदुलकर को लेकर किसी ने भी उस समय यह कल्पना नहीं की थी कि एक दिन यह खिलाड़ी वर्ल्ड क्रिकेट में बल्लेबाजी के सारे रिकॉर्ड तोड़ देगा।

साल 2013 में सचिन के संन्यास लेने बाद भी अभी तक अधिकतर बल्लेबाजी के रिकॉर्ड उन्हीं के नाम पर दर्ज हैं, जिसमें एक सबसे बड़ा रिकॉर्ड 100 अंतरराष्ट्रीय शतक लगाने का है जिसे तोड़ पाना किसी भी बल्लेबाज के लिए आसान काम नहीं है। हालांकि, सचिन ने अपना पहला वनडे मैच साल 1989 में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था, जिसके बाद वह इस फॉर्मेट में अपना पहला शतक लगभग 5 सालों के बाद लगा पाए थे।

पहले शतक के लंबे इंतजार के बाद तो सचिन ने वनडे में शतकों की एक झड़ी सी लगा दी और साल 2012 में जब उन्होंने अपना आखिरी वनडे मैच खेला तो उस समय तक उनके नाम पर 49 वनडे शतक दर्ज थे, वहीं सचिन ने टेस्ट फॉर्मेट में 51 शतक लगाए। उनके रिकॉर्ड को तोड़ना फिलहाल मौजूदा समय में किसी भी बल्लेबाज के लिए आसान काम नहीं है।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आया था पहला वनडे शतक

सचिन तेंदुलकर को अपने पहले वनडे शतक के लिए लंबा इंतजार करना पड़ा था। उन्हें यह मौका साल 1994 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिंगर वर्ल्ड सीरीज के मैच के दौरान कोलम्बो के मैदान पर मिला था। इस मैच में भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया था। इसके बाद सचिन के साथ पारी की शुरुआत करने मनोज प्रभाकर उतरे और दोनों ने मिलकर पहले विकेट के लिए 87 रन जोड़ दिए।

प्रभाकर 20 रन बनाने के बाद पवेलियन लौट गए लेकिन सचिन ने एक छोर से लगातार तेजी के साथ रन बनाने का सिलसिला जारी रखा। वह 130 गेंदों का सामना करते हुए 110 रन बनाने के बाद पवेलियन लौटे जिसमें 8 चौके और 2 छक्के शामिल थे। सचिन की इस शानदार पारी के चलते भारतीय टीम 50 ओवरों में 8 विकेट के नुकसान पर 246 रन बनाने में कामयाब रही।

वहीं, ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए धीमी होती पिच पर यह लक्ष्य हासिल करना आसान काम नहीं था और पूरी टीम 47.4 ओवरों में 215 रन बनाकर पवेलियन लौट गई। भारतीय टीम ने इस मैच को 31 रनों से अपने नाम किया, जिसमें सचिन को शानदार प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ दी मैच का खिताब दिया गया।

Leave a Response