close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

आज के दिनः वेस्टइंडीज दौरे पर भारतीय टीम ने तीनों प्रारुप में किया था क्लीन स्वीप

क्रिकेट में ऐसा काफी कम ही देखने को मिला है, जब किसी विदेशी दौरे पर मेहमान टीम ने वहां पर खेली गई सभी फॉर्मेट की सीरीज में मेजबान टीम को एकतरफा मात देते हुए तीनों ही सीरीज को अपने नाम करने में कामयाबी हासिल की हो। ऐसा ही कुछ भारतीय टीम ने साल 2019 के वेस्टइंडीज दौरे पर किया था, जहां टीम इंग्लैंड में हुए वनडे वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मैच में हार के बाद खेलने पहुंची थी।

भारतीय टीम के लिए इस दौरे पर टेस्ट में जहां बल्ले से हनुमा विहारी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए सभी को प्रभावित किया था, तो वहीं वनडे और टी-20 में कप्तान कोहली ने अपने बल्ले का दम दिखाया था। पिछले कुछ सालों से वेस्टइंडीज की पिचें भी काफी धीमी देखने को मिल रही हैं, जिसके चलते वहां बल्लेबाजी करना आसान नहीं रह गया है। हम आपको इस आर्टिकल में तीनों ही सीरीज के परिणामों के बारे में बताने जा रहे हैं।

1 – 3 मैच की टी-20 सीरीज में किया सफाया

इस दौरे की शुरुआत भारतीय टीम ने 3 मैचों की टी-20 सीरीज के साथ की थी, जिसके पहले मैच में भारतीय टीम ने 4 विकेट से जीत हासिल करते हुए सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली। इसके बाद दूसरे मैच में डकवर्थ लुईस नियम के तहत वेस्टइंडीज टीम को 22 रनों से हार का सामना करना पड़ा था, तो वहीं तीसरे मैच को भारतीय टीम ने 7 विकेट से जीतते हुए टी-20 सीरीज को 3-0 से अपने नाम किया था।

2 – वनडे में भी कुछ ऐसा ही हाल देखने को मिला

टी-20 सीरीज के खत्म होने के बाद दोनों टीमों के बीच 3 मैचों की वनडे सीरीज भी खेली गई, जिसमें पहला मैच बारिश के चलते रद्द करना पड़ा था। वहीं, दूसरे मैच में भारतीय टीम ने डकवर्थ लुईस नियम के तहत 59 रनों से जीत हासिल की जबकि तीसरे मैच में भारतीय टीम ने डकवर्थ लुईस नियम के तहत 6 विकेट से जीत दर्ज की थी।

3 – टेस्ट सीरीज के दोनों मैच रहे एकतरफा

इस दौरे का अंत 2 मैचों की टेस्ट सीरीज से होना था, जिसमें सीरीज का पहला मैच एंटिगुआ के मैदान पर खेला गया था। इस मैच में भारतीय टीम ने 318 रनों की विशाल जीत दर्ज करते हुए टेस्ट सीरीज का आगाज शानदार तरीके से किया था। वहीं, सीरीज का दूसरा और आखिरी मैच जमैका के मैदान पर खेला गया था, जहां भारतीय टीम ने एकबार फिर 257 रनों से जीत हासिल करने के साथ सीरीज को भी 2-0 से अपने नाम किया। यह दौरा भारतीय टीम के लिए बेहद सफल कहा जा सकता है, जहां टीम ने तीनों फॉर्मेट की सीरीज में एकतरफा जीत हासिल की थी।

Leave a Response