close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

आज के दिन ही श्रीलंका ने साल 2019 के वर्ल्डकप में इंग्लैंड को दी थी मात

साल 2019 में इंग्लैंड में खेले गए वर्ल्डकप का फाइनल मैच में सभी फैंस के दिलों में हमेशा याद रहने वाला है क्योंकि इंग्लैंड की टीम को मिली जीत किसी आश्चर्य से कम नहीं थी। हालांकि फाइनल तक का सफर मेजबान इंग्लैंड के लिए आसान नहीं रहा था। क्योंकि उसने जहां बड़ी टीमों के खिलाफ लीग मैचों के दौरान जीत दर्ज की थी, तो वहीं उसे ऐसे मैचों में हार का सामना करना पड़ा, जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी।

इसी में एक मैच 21 जून 2019 के श्रीलंका के खिलाफ हेडिंग्ले के मैदान में खेला गया था। इस मैच में किसी को उम्मीद नहीं थी कि मेजबान इंग्लैंड को हार का सामना करना पड़ेगा। दरअसल श्रीलंका की टीम ने उसे सिर्फ 233 रनों का लक्ष्य दिया था, लेकिन इंग्लैंड की पूरी टीम 212 के स्कोर पर ही सिमट गई और उसे 20 रनों से हार का सामना करना पड़ा था।

श्रीलंका ने टॉस जीतकर चुनी बल्लेबाजी

श्रीलंका टीम के कप्तान कुसल परेरा ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। जिसके बाद ओपनिंग बल्लेबाज सिर्फ 3 के स्कोर पर ही पवेलियन लौट गए थे। लेकिन अविष्का फर्नांडो और कुशल मेंडिस ने तीसरे विकेट के लिए 59 रनों की साझेदारी करते हुए टीम को संभालने की कोशिश की। इसमें फर्नांडो 39 गेदों में 49 रन बनाकर पवेलियन लौटे।

मैथ्यूज ने खेली नाबाद 85 रनों की पारी

एंजेलो मैथ्यूज ने फर्नांडो के आउट होने के बाद मेंडिस के साथ मिलकर लगातार रन बनाना जारी रखा। जिसमें दोनों के बीच चौथे विकेट के लिए 101 गेंदों में 71 रनों की साझेदारी हुई। इसके बाद मेंडिस 46 रन बनाकर पवेलियन लौटे। वहीं मैथ्यूज ने धनंजया डी सिल्वा के साथ मिलकर 6वें विकेट के लिए 57 रनों की साझेदारी करते हुए स्कोर को 200 के पार पहुंचाने में अहम भूमिका अदा की। एक छोर से विकेट गिरने के बावजूद मैथ्यूज ने लगातार रन बनाना जारी रखा। इसके चलते 50 ओवरों के समाप्त होने पर श्रीलंका की टीम ने 9 विकेट के नुकसान पर 232 रन बना लिए थे। वहीं इंग्लैंड के लिए जोफ्रा आर्चर और मार्क वुड ने 3-3 विकेट हासिल किए थे।

इंग्लैंड को मलिंगा ने दिए शुरुआती झटके

233 रनों के आसान लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड टीम से सभी को उम्मीद थी कि वह इसे आसानी से हासिल कर लेंगे। लेकिन श्रीलंकांई टीम के तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा ने इंग्लैंड के दोनों ओपनिंग बल्लेबाजों को 26 के स्कोर पर ही पवेलियन भेजकर यह साफ कर दिया था कि उनके लिए राह आसान नहीं होने वाली है। लेकिन इंग्लैंड टीम के कप्तान इयोन मॉर्गन ने जो रूट के साथ मिलकर तीसरे विकेट के लिए 47 रनों की साझेदारी करके टीम को मैच में वापस लाने की कोशिश की।

स्टोक्स की पारी गई बेकार

मॉर्गन के आउट होने के बाद रूट को बेन स्टोक्स का साथ मिला और दोनों के बीच चौथे विकेट के लिए 54 रनों की साझेदारी हुई। लेकिन रूट को 57 के निजी स्कोर पर मलिंगा ने अपना शिकार बनाते हुए इंग्लैंड को 127 के स्कोर पर चौथा झटका दिया। जिसके बाद बेन स्टोक्स ने एक छोर से लगातार रनों की गति को बरकरार रखते हुए स्कोर को चलाने का काम किया, लेकिन दूसरे छोर से उन्हें वैसा साथ नहीं मिला। इसके बाद आखिरी विकेट के लिए स्टोक्स और मार्क वुड के बीच जरूर 26 रनों की साझेदारी हुई लेकिन वह टीम को जीत दिलाने में नाकाम रहे। स्टोक्स ने इस मैच में 82 रनों की नाबाद पारी खेली। जबकि श्रीलंका के लिए मैच में लसिथ मलिंगा ने 4 तो धनंजया डी सिल्वा ने 3 विकेट हासिल किए थे।

Leave a Response