close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

बर्खास्तगी के तीन साल बाद सिमंस की हुई वापसी, बने वेस्टइंडीज के नए कोच

2016 टी20 विश्व कप में वेस्टइंडीज को मिली जीत के बाद बोर्ड ने बड़ा फैसला लेते हुए कप्तान डैरेन सैमी और कोच फिल सिमंस को सस्पेंड कर दिया था। इस सस्पेंशन के तीन साल बाद अपने फैसले को पलटते हुए वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड ने सिमंस को एक बार फिर से टीम का कोच बना दिया है।

सिमंस अगले चार साल तक टीम के कोच बने रहेंगे। उनके साथ बोर्ड ने महिला और युवा टीम के लिए भी नए कोच की घोषणा कर दी है। एक तरफ जहां सिमंस को कोच बनाया गया है वहीं पूर्व खिलाड़ी रोजर हार्पर को मुख्य चयनकर्ता बनाया गया है।

कोच के रूप में सिमंस का सफर

आपको बता दें कि सिमंस ने खुद को बर्खास्त किए जाने के फैसले पर बोर्ड के खिलाफ मुकदमा दायर कर दिया था लेकिन इस साल की शुरुआत में उन्होंने माफी मांग कर अपनी वापसी के रास्ते खोल दिए थे। इससे पहले वो विश्व कप तक अफगानिस्तान टीम के कोच थे जबकि उनके ही मार्ग दर्शन में बारबडोस ट्राइडेंट्स ने सीपीएल का खिलात जीता है।

पढ़ें – CPL 2019 : ट्राइडेंट्स बना चैंपियन, टूर्नामेंट में इन खिलाड़ियों का रहा जलवा

इससे पहले 2007 से 2015 तक वो आयरलैंड के कोच थे और तीनों विश्व कप में टीम को पहुंचाया था। सिमंस ने वेस्टइंडीज को टी20 चैंपियन बनाने में अहम भूमिका निभाई थी हालांकि वो टी20 क्रिकेट में मिली सफलता को टेस्ट में नहीं दोहरा सके थे। उनके कोच रहते वेस्टइंडीज ने 14 में से एक ही टेस्ट जीत पाया था।

सिमंस के कोच बनने के बाद सीडब्ल्यूआई अध्यक्ष रिकी स्केरिट ने कहा ,‘‘फिल सिमंस की वापसी अतीत के गलत फैसले को सही करना ही नहीं था बल्कि मुझे यकीन है कि हमने सही समय पर इस पद के लिए सही व्यक्ति को चुना है।’’

उनके नेतृत्व में वेस्टइंडीज का अगला मुकाबला अफगानिस्तान के खिलाफ होगा जहां वो अगले महीने देहरादून में तीन टी 20 -तीन वनडे और एक टेस्ट मैच खेलेगी।

डे-नाइट टेस्ट से भारतीय क्रिकेट को होगा फायदा Live

  • हां
  • नहीं

Leave a Response

Shashank

The author Shashank

2011 विश्व कप के साथ शशांक ने अपनी खेल पत्रकारिता की शुरआत की। क्रिकेट के मैदान से लेकर हर छोटी बड़ी खबरों पर इनकी नज़र रहती है। खेल की बारीकियों से लेकर रिकॉर्ड बुक तक, हर उस पहलू पर नजर होती है जिसे आप पढ़ना और जानना चाहते हैं। क्रिकेट के अलावा दूसरे खेलों में भी इनकी गहरी रूची है। कई बड़े मीडिया हाउस को अपनी सेवा दे चुके हैं।