close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

आईसीसी के पहले टूर्नामेंट के फाइनल में इन खिलाड़ियों ने जीता मैन ऑफ द मैच

खेल में किसी भी खिलाड़ी का सपना होता है कि वह एक दिन अपनी टीम के लिए वर्ल्डकप जैसे टूर्नामेंट में खेलते हुए जीत दिलाने में अहम भूमिका अदा करे। इस में क्रिकेट को लेकर बात की जाए तो वहां भी ऐसा ही देखने को मिलता है। आईसीसी के टूर्नामेंट की अहमियत का अंदाजा सभी खिलाड़ियों को होता है और उनकी कोशिश रहती है कि वह अपने करियर में एकबार आईसीसी की ट्रॉफी जरूर जीत सके।

अभी तक हुए वनडे वर्ल्डकप, टी-20 वर्ल्डकप, चैंपियंस ट्रॉफी का फाइनल मुकाबला खेलने वाली टीमों के दोनों ही खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया। लेकिन किसी एक को मैच खत्म होने के बाद प्लेयर ऑफ दी मैच का खिताब दिया जाता है, जो उसके करियर के लिए किसी मील के पत्थर से कम साबित नहीं होता है। जिसके बाद हम आपको अभी तक हुए सभी आईसीसी टूर्नामेंट के पहले संस्करण के फाइनल मुकाबले में मैन ऑफ द मैच का खिताब जीतने वाले खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं।

1 – साल 1975 पहला वनडे विश्वकप (क्लाइव लॉयड)

साल 1975 में वनडे क्रिकेट का पहला वर्ल्डकप इंग्लैंड में खेला गया था, जिसका फाइनल मुकाबला वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुआ था। इस फाइनल मुकाबले में विंडीज टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 60 ओवरों में 291 रन बना दिए थे। जिसमें विंडीज कप्तान क्लाइव लॉयड ने 102 रनों की शतकीय पारी खेली, वहीं उन्होंने गेंद से भी 1 विकेट अपने नाम किया था। इसके चलते वेस्टइंडीज की टीम ने जहां फाइनल मुकाबले में 17 रनों से जीत दर्ज की, वहीं क्लाइल लॉयड को उनके शानदार खेले के लिए मैन ऑफ द मैच का खिताब दिया गया था।

2 – साल 1998 पहली आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी (जैक कैलिस)

आईसीसी की पहली चैंपियंस ट्रॉफी का आयोजन साल 1998 में बांग्लादेश में किया गया था, जिसके फाइनल मुकाबले में वेस्टइंडीज और साउथ अफ्रीका की टीम पहुंची थी। फाइनल मैच में विंडीज टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 245 के स्कोर पर सिमट गई। इसमें सबसे बड़ी भूमिका दक्षिण अफ्रीका के ऑलराउंडर खिलाड़ी जैक कैलिस ने निभाई थी, जिन्होंने आधी वेस्टइंडीज की टीम को पवेलियन भेजने का काम किया था। वहीं कैलिस ने बाद में बल्ले से भी महत्वपूर्ण 37 रनों का योगदान दिया था, जिसके चलते उन्हें फाइनल मुकाबले में मैन ऑफ द मैच का खिताब दिया गया था।

3 – साल 2007 पहला आईसीसी टी-20 वर्ल्डकप (इरफान पठान)

दक्षिण अफ्रीका में जब साल 2007 में पहला आईसीसी टी-20 वर्ल्डकप खेला गया तो किसी ने इसमें भारत के जीतने की उम्मीद शुरू में नहीं लगाई थी। लेकिन भारतीय टीम ने सभी को गलत साबित करते हुए फाइनल मुकाबले में जगह बनाई, जहां उसका मुकाबला पाकिस्तान की टीम के साथ था। फाइनल मैच में भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में 5 विकेट के नुकसान पर 157 का स्कोर बनाया। पाकिस्तान के लिए इस लक्ष्य को हासिल करना आसान काम नहीं था और इसे मुश्किल बनाने का काम भारतीय टीम के हरफनमौला खिलाड़ी इरफान पठान ने किया, जिन्होंन अपने 4 ओवरों में सिर्फ 16 रन देते हुए 3 महत्वपूर्ण विकेट हासिल किए। इसके चलते भारतीय टीम ने इस मुकाबले में 5 रनों से जीत दर्ज करते हुए इतिहास रचा और इरफान पठान को मैन ऑफ द मैच का खिताब दिया गया था।

4 – साल 2021 पहला आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल (काइल जेमिसन)

भारत और न्यूजीलैंड की टीम के बीच पहला आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला इंग्लैंड के साउथहैम्पटन मैदान में खेला गया था। इस मैच में न्यूजीलैंड की टीम ने 8 विकेट से जीत हासिल करते हुए इतिहास रचने का काम किया। वहीं इस जीत में सबसे बड़ा योगदान 26 साल के काइल जेमिसन ने दिया। उन्होंने भारतीय टीम की पहली पारी में 5 विकेट झटकने के साथ कीवी टीम की पहली पारी में 21 महत्वपूर्ण रनों का योगदान दिया। वहीं काइल ने भारतीय टीम की दूसरी पारी में भी 2 महत्वपूर्ण विकेट अपने नाम किए थे। काइल को उनके इस शानदार प्रदर्शन के लिए फाइनल मुकाबले में मैन ऑफ द मैच का खिताब दिया गया।

Leave a Response