close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

जन्मदिन विशेष: सचिन तेंदुलकर के इन रिकॉर्ड्स के बारे में आप शायद ही जानते होंगे!

क्रिकेट में सचिन तेंदुलकर की गिनती दुनिया के सर्वकालिक महान बल्लेबाजों में होती है। वैसे सचिन को ये ऐसे ही नहीं मिला बल्कि इसके लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की है। 22 गज की पिच के लगभग सारे रिकॉर्ड अपने नाम करने वाले मास्टर ब्लास्टर आज हर क्रिकेट प्रेमी की दिल की धडकन है। वैसे तो आप सचिन के ज्यादातर रिकॉर्ड को जानते ही होंगे लेकिन आज हम आपको उनके कुछ ऐसा दिलचस्प रिकॉर्ड्स बताते हैं, जिससे शायद आप अंजान हो।

वनडे क्रिकेट में सचिन के नाम 18426 रन दर्ज है और वनडे में उनसे ज्यादा रन किसी ने नहीं बनाए हैं। हमें पता है कि आपको इस रिकॉर्ड की जानकारी होगी लेकिन क्या आपको पता है कि दुनिया के 98 प्रतिशत क्रिकेटर्स ने सचिन से आधे रन भी नहीं बनाए हैं। ऐसा भी नहीं है कि वनडे क्रिकेट 10-20 साल पहले शुरू हुआ हो, इसकी शुरुआत तो साल 1971 में ही हो गई थी। मतलब करीब 50 साल पहले शुरु हुए वनडे क्रिकेट में 98 प्रतिशत क्रिकेटर्स ने सचिन से आधे रन भी नहीं बनाए। सचिन के बाद श्रीलंका के कुमार संगाकारा का नंबर आता है लेकिन वह भी इस महान बल्लेबाज से करीब 4200 रन पीछे हैं।

चलिए आपको एक और दिलचस्प रिकॉर्ड के बारे में बताते हैं। ये तो सभी को पता है कि सचिन ने अपने इंटरनेशनल करियर की शुरुआत साल 1889 में की थी। लेकिन क्या आपको पता है कि सचिन के साथ उस साल 23 और क्रिकेटर ने अपना करियर शुरू किया। इन 23 क्रिकेटर्स में से न्यूजीलैंड के क्रिस कैन्र्स सबसे ज्यादा साल 2004 तक खेले।

कहने का मतलब ये है कि सचिन ने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच साल 2013 में खेला और कैन्स ने 2004 में, यानी वह क्रिस से भी 9 साल ज्यादा खेले। अब ऐसा तो क्रिकेट का सबसे बड़ा खिलाड़ी ही कर सकते हैं ना।

सचिन तेंदुलकर ने घरेलू क्रिकेट में भी अपना जलवा खूब बिखेरा है। रणजी, दलीप और ईरानी ट्राफी के अपने पहले ही मैच में शतक जमाने वाले सचिन भारत के इकलौते खिलाड़ी हैं। उनका ये रिकॉर्ड आज भी बरकरार है।

आज की क्रिकेट में थर्ड अंपायर का फैसला देना आम बात है। लेकिन आपको पता है कि थर्ड अंपायर द्वारा आउट दिए जाने वाले पहले क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर थे। ये बात साल 1992 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले जा रहे डरबन टेस्ट की है। मैच के दूसरे दिन अफ्रीकी फिल्डर जोंटी रोड्स के थ्रो के बाद यह मामला तीसरे अंपायर के पास पहुंचा, जिसके बाद  अंपायर कार्ल लाएबनबर्ग ने सचिन को आउट करार दिया था।

सचिन के बारे में एक ऐसी बात, जिस पर कम ही फैंस ने गौर किया होगा। आपको पता है कि सचिन कभी भी टीम बस में होते थे तो हमेशा पहली पंक्ति में बाईं तरफ की खिड़की वाली सीट पर बैठते थे।

Leave a Response