close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

टेस्ट क्रिकेट में आज के दिन ही शेन वॉर्न ने लिया था अपना 600वां विकेट 

टेस्ट क्रिकेट एक ऐसा फॉर्मेट है जहां गेंदबाज की विवधता और उसके संयम की सबसे बड़ी परीक्षा देखने को मिलती है। इसी कारण लंबे समय तक इस फॉर्मेट में खेलना किसी भी खिलाड़ी के लिए आसान काम नहीं रहा है। अगर हम बात करें मौजूदा समय के टॉप-4 सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट हासिल करने वाले गेंदबाजों की तो उसमें 3 स्पिन गेंदबाज शामिल हैं और इनमें सबसे पहले 600 टेस्ट विकटों का आंकड़ा छूने का काम पूर्व ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज लेग स्पिनर शेन वॉर्न ने किया था। 

शेन वॉर्न किसी भी पिच पर गेंद को एक छोर से दूसरे छोर तक घुमाने की कला को बखूबी जानते थे। वह क्रिकेट इतिहास के अभी तक के सबसे शानदार लेग स्पिनर माने जाते हैं, जिन्होंने लंबे समय तक अपनी बादशाहत को पूरी तरह से कायम रखा। वॉर्न ने साल 2005 में हुई एशेज सीरीज में 11 अगस्त को टेस्ट क्रिकेट में अपना 600वां विकेट हासिल किया था। 

मार्कस ट्रेस्कोथिक बने थे शिकार 

इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गई साल 2005 में एशेज सीरीज कई मायनों में यादगार रही थी, जिसमें एक मैच मैनचेस्टर के मैदान पर शेन वॉर्न के करियर के लिए भी यादगार बन गया। इस मैच के पहले दिन मेजबान टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया था। शेन वॉर्न ने 63 रनों की शानदार पारी खेलकर पिच पर टिके ओपनिंग बल्लेबाज मार्कस ट्रेस्कोथिक को विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट से कैच करवाते हुए अपना 600वां विकेट पूरा किया था। 

वॉर्न ने साल 2005 की एशेज सीरीज में अपनी गेंदबाजी का जादू दिखाते हुए 5 मैचों में 19.93 की औसत से कुल 40 विकेट हासिल किए थे जिसमें उन्होंने 5 बार एक पारी में 4 विकेट तो 3 बार एक पारी में 5 विकेट हासिल किए थे। शेन वॉर्न ने अपने टेस्ट करियर का अंत 145 मैच खेलने के साथ 708 विकेट हासिल करते हुए किया। 

उनके करियर में यदि पहले टेस्ट विकेट की बात की जाए तो वह मौजूदा भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री का था जो उन्होंने साल 1991-92 में हुए सिडनी टेस्ट के दौरान हासिल किया था। इसके अलावा शेन वॉर्न के नाम वनडे फॉर्मेट में भी 293 विकेट दर्ज हैं। 

कहानी “बॉल ऑफ द सेंचुरी” की जब शेन वॉर्न ने कर दिया कमाल

Leave a Response