close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

ICC चेयरमैन पद से शंशाक मनोहर का इस्तीफा, रेस में कई दिग्गज

आईसीसी (ICC) चेयरमैन शाशंक मनोहर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। वह दो बार दो-दो साल तक इस पद पर रहे। आईसीसी ने एक बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी।

आईसीसी ने एक बयान में कहा कि आईसीसी बोर्ड ने बुधवार को बैठक की और इस बात पर सहमति जताई कि मनोहर का उत्तराधिकारी न चुने जाने तक डिप्टी चेयरमैन इमरान ख्वाजा सारी जिम्मेदारी संभालेंगे।

अगले चेयरमैन के चुनाव की प्रक्रिया को अगले सप्ताह आईसीसी बोर्ड की मंजूरी मिल सकती है।

आईसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) मनु स्वाहने ने कहा, “आईसीसी बोर्ड, स्टाफ और पूरे क्रिकेट परिवार की ओर से, मैं शशांक का उनका नेतृत्व के लिए और आईसीसी चेयरमैन रहते हुए उन्होंने जो किया उसके लिए उनका शुक्रिया कहना चाहता हूं। हम उनको और उनके परिवार को भविष्य के लिए शुभकामनाएं देते हैं।”

उन्होंने कहा, “आईसीसी बोर्ड में हर कोई शशांक का उनके समपर्ण के लिए उनका धन्यवाद देता है। वह क्रिकेट और आईसीसी को एक बेहतर स्थिति में छोड़कर जा रहे हैं।”

चेयरमैन पद की रेस में कई दिग्गज

भारत के पूर्व कप्तान और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली आईसीसी चेयरमैन पद की रेस में शामिल हैं, इसके अलावा इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड  के पूर्व चेयरमैन कोलिन ग्रेव्स भी इस दावेदारी के लिए बड़ा नाम हैं। हालांकि गांगुली की दावेदारी इस बात पर निर्भर करेगी कि सुप्रीम कोर्ट उन्हें लोढ़ा समिति की सिफारिशों के तहत अनिवार्य ब्रेक में छूट देकर बीसीसीआई अध्यक्ष पद पर बने रहने का मौका देता है या नहीं।

इसके अलावा क्रिकेट वेस्टइंडीज के पूर्व प्रमुख डेव कैमरन, क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका के क्रिस नेनजानी, न्यूजीलैंड के ग्रेगोर बार्कले भी इस रेस में शामिल हैं। मौजूदा संविधान के मुताबिक गांगुली राज्य और बीसीसीआई में अधिकारी के तौर पर 6 साल का कार्यकाल 31 जुलाई को खत्म हो रहा है जिसके बाद वह आईसीसी चेयरमैन पद के लिए दावेदारी पेश कर सकते हैं।

आईसीसी के नियमों के अनुसार शशांक मनोहर 2 साल और आईसीसी चैरयरमैन के पद पर रह सकते थे क्योंकि स्वतंत्र चेयरमैन के लिए अधिकतम 3 कार्यकाल की अनुमति है लेकिन उन्होने ऐसा नहीं किया और अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

ये पूर्व कप्तान चाहता है कि आईसीसी के चीफ बनें सौरव गांगुली

Leave a Response