close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

सूर्यकुमार या श्रेयस : टी-20 विश्वकप में किसे मिलना चाहिए भारतीय मध्यक्रम में मौका

मौजूदा समय में भारतीय मध्यक्रम में लगातार शानदार प्रदर्शन कर रहे बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव का दावा भारतीय टीम में दिन प्रतिदिन मजबूत होता जा रहा है। हाल ही में श्रीलंका दौरे पर वनडे सीरीज में वह मैन ऑफ द सीरीज चुने गए हैं। इसके अलावा पहले टी-20 में ही उन्होंने पचास रन की बेहद जरुरी पारी खेली। जिसके बदौलत टीम इंडिया ने 20 ओवरों में 164 रन बनाए और शानदार गेंदबाजी के बूते मुकाबला अपने नाम कर लिया।

टी-20 व वनडे में लगातार रनों का अंबार लगा रहे बल्लेबाज सूर्यकुमार श्रेयस अय्यर को मध्यक्रम में जगह के लिए लगातार चुनौती पेश कर रहे हैं। अय्यर चोटिल होने के चलते लंबे समय से क्रिकेट के मैदान से दूर हैं। श्रेयस अय्यर ने चोटिल होने से पहले लगातार भारत के लिए शानदार प्रदर्शन किया है और उनकी वापसी के बाद सूर्यकुमार के लिए चुनौती होगी।

बात करते हैं श्रेयस अय्यर की

साल 2021 में चार टी-20 पारियों में अय्यर ने 121 रन बनाए हैं, इस दौरान उनका औसत 40.33 व 145.78 का स्ट्राइक रेट रहा है। उन्होंने ये रन इंग्लैंड की तगड़ी गेंदबाजी लाइन-अप के खिलाफ बनाए थे। सीरीज में अपनी क्षमता का शानदार नमूना अय्यर ने पेश किया था।

इंग्लैंड के खिलाफ पहले टी-20 में 48 गेंदों में 67 रन, दूसरे टी-20 में सबसे अधिक 21 रन और चौथे टी-20 में 18 गेंदों में 37 रन बनाए थे। अय्यर मौके की नजाकत के हिसाब से अपने खेल में परिवर्तन करना जानते हैं। रक्षात्मक और आक्रामक बल्लेबाजी में वह माहिर खिलाड़ी हैं।

बात करते हैं सूर्यकुमार की

बीते 3-4 वर्षों से सूर्यकुमार यादव लगातार शानदार फॉर्म में रहे हैं। उनका आईपीएल रिकॉर्ड इस बात का जीता-जागता प्रमाण है। वह स्पिन व तेज गेंदबाजों का आसानी और एक ही अंदाज में खेलते हैं। साल 2018-2020 आईपीएल सीजन में उन्होंने औसतन 400 रन बनाए हैं। वह मुंबई इंडियंस के मुख्य बल्लेबाजों में से एक हैं।

आईसीसी टी-20 विश्वकप करीब है और सूर्यकुमार यादव शानदार फॉर्म में हैं और उनके हाल के प्रदर्शन को देखते हुए वह श्रेयस अय्यर पर भारी पड़ते हैं। उन्होंने मिले मौकों पर भारतीय टीम के लिए अपनी अहमियत साबित की है। उन्होंने तीन टी-20 मैचों में 139 रन बनाए हैं, इस दौरान उनका औसत 46.33 और स्ट्राइक रेट 169.51 का रहा है। तीन पारियों में से दो में उन्होंने पचासा जड़ा है। वहीं वनडे में उन्होंने तीन पारियों में 124 रन बनाए हैं, जहां उनका औसत 62 व स्ट्राइक रेट 122.77 का रहा है।

श्रेयस व सूर्यकुमार की तुलना में बात करें तो श्रेयस को सेटल होने में समय लगता है, जबकि सूर्यकुमार पहली गेंद से गेंदबाजों पर दबाव बनाने की क्षमता रखते हैं। उनके शॉट रिस्क फ्री होते हैं और स्ट्राइक रेट कमाल को होता है। इसलिए वह भारतीय टीम के लिए एक्स फैक्टर साबित हो सकते हैं। जबकि अय्यर ऑर्थोडॉक्स बल्लेबाजी करते हैं, जो उनके पक्ष में जाता है।

टी-20 विश्वकप को मद्देनजर रखते हुए देखें तो

अगर भारतीय टीम के चयनकर्ता टी-20 विश्वकप 2021 को मद्देनजर रखकर देखें जो आईपीएल के ठीक बाद शुरु हो जाएगा। ऐसे में अय्यर के पास मैच प्रैक्टिस कम है, जबकि सूर्यकुमार भारतीय टीम के साथ बने हुए हैं और लगातार अच्छा खेल भी दिखा रहे हैं। हालांकि इन दोनों बल्लेबाजों के लिए आईपीएल का बाकी बचा हुआ सीजन अहम साबित होगा, इसमें जो भी बल्लेबाज अपने फॉर्म को बरकरार रखने सफल हुआ अंत में उसी का पलड़ा भारी पड़ सकता है।

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।