close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

टी-20 विश्वकप 2021 – दांव पर होंगे ये बड़े रिकॉर्ड

आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप 2021 का आगाज 17 अक्टूबर से हो चुका है, जिसमें सबसे पहले क्वालिफायर राउंड के मुकाबले खेले जा रहे हैं। इसके बाद 23 अक्टूबर से मुख्य टूर्नामेंट की शुरुआत सुपर-12 के मैचों के साथ होगी। साल 2007 में पहली बार दक्षिण अफ्रीका में टी-20 वर्ल्ड कप का आयोजन किया गया था जिसके बाद अभी तक इसके 6 संस्करण खेले जा चुके हैं।

इसमें वेस्टइंडीज की टीम ने जहां 2 बार ट्रॉफी को अपने नाम किया, वहीं भारत, पाकिस्तान, इंग्लैंड और श्रीलंका 1-1 बार ट्रॉफी को अपने नाम करने में कामयाब रही हैं। वर्ल्ड कप जैसे मेगा इवेंट में खेलने वाले हर खिलाड़ी का सपना होता है कि वह अपनी टीम के लिए बेहतर प्रदर्शन कर सके जिसमें हम सभी ने कई रिकॉर्ड प्रत्येक संस्करण में बनते हुए भी देखे हैं। हम आपको इस आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप में कौन से रिकॉर्ड बन सकते हैं, उसके बारे में बताने जा रहे हैं।

1 – ड्वेन ब्रावो बन सकते हैं सबसे ज्यादा मैच खेलने वाले खिलाड़ी

वेस्टइंडीज टीम के दिग्गज हरफनमौला खिलाड़ी ड्वेन ब्रावो टी-20 फॉर्मेट के सबसे सफल खिलाड़ियों में से एक माने जाने जाते हैं, जिसमें उनका शानदार प्रदर्शन अभी तक टी-20 वर्ल्ड कप के संस्करण में भी देखने को मिला है। अभी तक ब्रावो ने टी-20 वर्ल्ड कप में कुल 29 मैच खेले हैं, जिसके बाद इस इवेंट में उनके पास श्रीलंका के पूर्व ओपनिंग बल्लेबाज तिलकरत्ने दिलशान के सबसे ज्यादा 35 मैच खेलने के रिकॉर्ड को तोड़ने का शानदार मौका होगा।

2 – धोनी के इस रिकॉर्ड को तोड़ सकते हैं क्विंटन डी कॉक

दक्षिण अफ्रीकी टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक के पास इस टी-20 वर्ल्ड कप में पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के एक रिकॉर्ड को तोड़ने का सबसे शानदार मौका होगा। धोनी के नाम टी-20 वर्ल्ड कप में अभी तक बतौर विकेटकीपर सबसे ज्यादा 21 कैच पकड़ने का रिकॉर्ड दर्ज है। वहीं, डी कॉक के 11 कैच हैं जिसके चलते वह इस रिकॉर्ड को टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में तोड़ सकते हैं।

3 – क्रिस गेल का एक संस्करण में सबसे ज्यादा छक्के लगाने का रिकॉर्ड

टी-20 वर्ल्ड कप के अभी तक 6 संस्करण खेले जा चुके हैं, जिसमें साल 2012 के संस्करण में यूनिवर्स बॉल क्रिस गेल के बल्ले से 16 छक्के देखने को मिले थे। इसके बाद उनके इस रिकॉर्ड के टूटने की पूरी उम्मीद है क्योंकि यूएई में खेले जाने वाले मैचों में बल्लेबाजी के लिए मुफीद विकेट मिल सकते हैं। इसके चलते इस बार गेल का यह रिकॉर्ड पूरी तरह से खतरे में देखा जा सकता है।

4 – बांग्लादेश के पास पाकिस्तान के खिलाफ टी-20 वर्ल्ड कप में जीत का खाता खोलने का मौका

बांग्लादेश की टीम इस टी-20 वर्ल्ड कप के लिए सीधे सुपर-12 के लिए क्वालिफाई नहीं कर सकी, जिसके बाद वह क्वालिफायर राउंड के मैचों में खेलते हुए मुख्य टूर्नामेंट में अपनी जगह बना सकती है। बांग्लादेश का अभी तक टी-20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ रिकॉर्ड काफी शर्मनाक रहा है, जिसमें उसकी भिड़ंत पाक टीम से 5 बार हुई है और सभी में उसे हार का सामना करना पड़ा है। लेकिन इस बार टीम के पास यह सिलसिला तोड़ने का शानदार मौका है।

Leave a Response