close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

टेस्ट क्रिकेट में एक कैलेंडर वर्ष में सबसे ज्यादा विकेट झटकने वाले गेंदबाज

क्रिकेट में एक कैलेंडर वर्ष में शानदार प्रदर्शन करने वाले क्रिकेटरों का रुतबा होता है, जो अपने प्रदर्शन से पूरे साल इस खेल को प्रभावित करते हैं। इस खास लेख में हम टेस्ट क्रिकेट में एक कैलेंडर वर्ष में सबसे ज्यादा विकेट चटकाने वाले टॉप-5 गेंदबाजों के बारे में बता रहे हैं। हालांकि इस लिस्ट में किसी भी भारतीय को जगह नहीं मिली, वहीं ओवरऑल अगर बात करें तो महान गेंदबाज कपिल देव इस सूची में आठवें स्थान पर बरकरार हैं। जिन्होंने सन् 1983 में 18 मैचों में 75 विकेट झटके थे। पढ़ें ये खास लेखः

शेन वार्न, 2005

ऑस्ट्रेलिया के महान स्पिन गेंदबाज शेन वार्न ने साल 2005 में 15 टेस्ट मैचों में 22.02 के औसत से 96 विकेट झटके थे। वार्न का इस दौरान स्ट्राइक रेट 45.1 था, जबकि एक पारी में 46 रन देकर 6 और एक मैच में 246 रन देकर 12 विकेट झटके थे। शेन वार्न ने कुल 4336 गेंदें फेंकी थी और 2.92 के इकॉनमी रेट से 2114 रन दिए थे।

मुथैया मुरलीधरन, 2006

श्रीलंका के दिग्गज स्पिन गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन ने साल 2006 में 11 टेस्ट मैचों में 16.90 के औसत से 90 विकेट लिए थे। मुरलीधरन ने इस दौरान एक पारी में 70 रन देकर 8 और एक मैच में 225 रन देकर 12 विकेट झटके थे। मुरलीधरन का इस दौरान का स्ट्राइक रेट 39.2 और इकॉनमी रेट 2.58 है। जबकि पूरे कैलेंडर वर्ष में मुरलीधरन ने 3532 गेंदें फेंकी थी और कुल 1521 रन दिये थे।

डेनिस लिली, 1981

सन् 1981 में ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज डेनिस लिली ने 13 मैचों में 3710 गेंदें फेंकी थी और 1781 रन देते हुए 20.95 के औसत से 85 बल्लेबाजों को आउट किया था। लिली का स्ट्राइक रेट व इकॉनमी रेट इस दौरान क्रमश: 43.6 व 2.88 था, उन्होंने 3710 गेंदें फेंकी थी और 1781 रन दिए थे। लिली के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की बात करें तो एक पारी में 83 रन देकर 7 और एक मैच में 159 रन देकर 11 विकेट झटके थे।

एलन डोनाल्ड, 1998

सन् 1998 में दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज एलन डोनाल्ड ने 14 टेस्ट मैचों में 80 विकेट लिए थे। डोनाल्ड का इस दौरान स्ट्राइक रेट 40.4 का था, जबकि औसत व इकॉनमी रेट क्रमशः 19.63 व 2.91 थी। दक्षिण अफ्रीका के इक दिग्गज गेंदबाज ने एक पारी में 88 रन देकर 6 व एक मैच में 74 रन देकर 8 विकेट झटके थे।

मुथैया मुरलीधरन, 2001

इस लिस्ट में पांचवें नंबर पर एक बार श्रीलंका के महान स्पिनर मुथैया मुरलीधरन का नाम दर्ज है। मुरलीधरन ने साल 2001 में 12 टेस्ट मैचों में 21.23 के औसत से 80 विकेट झटके थे, इस दौरान उनका स्ट्राइक व इकॉनमी रेट क्रमशः 58.6 व 2.17 थी। वहीं उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन एक पारी में 87 रन देकर 8 व एक मैच में 170 रन देकर 11 विकेट का था।

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।